जागरण संवाददाता, जलपाईगुड़ी: रामकृष्ण मिशन ने जन्माष्टमी के दिन मृण्मयी निर्माण का काम शुरू किया। प्रतिवर्ष की भांति इस बार भी पूरे रीति रिवाज के साथ दुर्गापूजा हो रही है। इससे पहले काठ की पूजा की गई। स्वामी विवेकानंद के प्रतिष्ठित रामकृष्ण मठ व मिशन में दुर्गापूजा का आयोजन पूरे जिले में प्रसिद्ध है। रामकृष्ण मिशन व आश्रम की पूजा का महत्व ही कुछ अलग है। इस बार पूजा के 58 वर्ष पूरे हो गए हैं। रामकृष्ण मिशन के सन्यासी सैनिक महाराज ने पूजा संपन्न कराया।

Posted By: Jagran