- ज्वाइंट बीडीओ व पिठासीन अधिकारी के नहीं पहुंचने पर बोर्ड गठन किया स्थगित: बीडीओ

- भाजपा कार्यकर्ताओं ने धरना देकर जताया विरोध

- तृणमूल कांग्रेस ने भाजपा पर लगाया अशांति फैलाने का आरोप

संवाद सूत्र, बानरहाट: धुपगुड़ी ब्लॉक के दूसरे ग्राम पंचायतों ने शांतिपूर्वक बोर्ड गठन प्रक्रिया पूरी हो गई है। लेकिन धुपगुड़ी ब्लॉक के बानरहाट थाना के अंतर्गत शालबाड़ी 2 नंबर ग्राम पंचायत में प्रशासन ने बोर्ड गठन की प्रक्रिया स्थगित रखी है। दूसरी ओर ब्लॉक प्रशासन के फैसले के खिलाफ भाजपा कर्मियों ने धरना देकर अपना विरोध जताया। आरोप है कि सत्ताधारी पार्टी तृणमूल कांग्रेस को सुविधा देने के लिए ही बोर्ड गठन की प्रक्रिया स्थगित कराई गई। वहीं प्रशासन की माने तो ज्वाइंट बीडीओ व पिठासीन अधिकारी को रोके जाने के कारण ही बोर्ड गठन प्रक्रिया संपन्न नहीं हो पाई। ज्ञातव्य है कि शालबाड़ी 2 नंबर ग्राम पंचायत के कुल 11 सीटों में तृणमूल कांग्रेस को 06, भाजपा को 04 व माकपा को एक सीट पर जीत मिली थी।

मंगलवार को बोर्ड गठन के दौरान तृणमूल कांग्रेस के दो पंचायत सदस्य राम कुमार दत्त व शिल्पी मंडल पंचायत कार्यालय नहीं पहुंचे थे। इस पर तृणमूल कांग्रेस के जिला महासचिव राजेश कुमार सिंह की माने तो सोमवार रात से ही दोनों पंचायत सदस्यों को धमकियां दी जा रही थी। भाजपा के बदमाश शराब पीकर घर में धमकी देने पहुंच गए। इलाके में अशांति का माहौल बनाने की कोशिश कर रही थी भाजपा। इसके बाद सोमवार को दोनों पंचायत सदस्य लापता हो गए। वहीं भाजपा के जिला कमेटी के सदस्य संतोष राय ने कहा कि तृणमूल के आपसी गुटों के कारण ही दो ग्राम पंचायत सदस्य नहीं पहुंचे। भाजपा ने किसी को धमकी नहीं दी है।

धुपगुड़ी े बीडीओ प्रकाश कुमार मीणा ने कहा कि सोमवार रात से ही इलाके में अशांति का माहौल बनाया जा रहा था। मंगलवार को ज्वाइंट बीडीओ व पिठासीन अधिकारी को पंचायत कार्यालय पहुंचने से पहले ही रोक दिया गया। इसी कारण बोर्ड गठन की प्रक्रिया स्थगित करनी पड़ी।

Posted By: Jagran