संवाद सूत्र, धुपगुड़ी: धुपगुड़ी ब्लॉक के पंचायत समिति के अध्यक्ष पद को लेकर राजनीतिक चर्चा जोरों पर है। पिछले काफी समय से उक्त पद अनुसूचित जाति व जनजाति के लिए संरक्षित था। लेकिन इस बार चुनाव आयोग की घोषना के अनुसार ये पद सामान्य वर्ग के लिए संरक्षित किया गया। ब्लॉक के कुल 48 सीटों में 39 सीटों पर तृणमूल कांग्रेस को जीत मिली थी। बोर्ड गठन की तैयारी चल रही है। तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ताओं की मांग है कि इलाके के ही किसी सामान्य वर्ग के सदस्य को पंचायत समिति का अध्यक्ष बनाया जाए। लेकिन अध्यक्ष पद के लिए एक से अधिक नाम उठकर आने से पार्टी दबाव में नजर आ रही है। वहीं कुछ पार्टी सदस्यों का मानना है कि सामान्य वर्ग की सदस्यों की संख्या कम होने से प्रशासनिक जिम्मेदारी देने में आसानी होगी। इससे काम भी बेहतर ढ़ंग से होगा।

पार्टी के कार्यकर्ता आकाश अली ने कहा कि गत 25 वर्षो से अध्यक्ष पद का सीट सामान्य वर्ग के लिए ही संरक्षित था। इसके बावजूद एससी व एससटी के सदस्य ही अध्यक्ष पद पर रहते थे। इसलिये इस बार सामान्य वर्ग से ही अध्यक्ष बनाने की मांग की गई है। वहीं सर्वभारतीय अल्पसंख्यक इमाम महाजन संघ के जलपाईगुड़ी जिला के महासचिव मोहम्मद उज्जावद्दिन ने कहा कि पंचायत समिति के अध्यक्ष पद पर अल्पसंख्यक समुदाय के सदस्यों को नहीं देखा गया है। इसलिये उनलोगों की मांग है कि किसी अल्पसंख्यक समुदाय को ही पंचायत समिति का अध्यक्ष बनाया जाए। इस बारे में मुख्यमंत्री को भी चिट्ठी दी गई है।

Posted By: Jagran