जागरण संवाददाता, जलपाईगुड़ी: जलपाईगुड़ी केंद्रीय संसोधनागार में 3 माउवादी व 1 केएलओ बंदी ने अनशन शुरू कर दिया है। समाजसेवी, कवि भारभावा राव समेत पांच समाजसेवियों की गिरफ्तारी के विरोध में चारों कैदी अनशन पर बैठे हैं। राजनीतिक बंदी मुक्ति कमेटी के उत्तर बंगाल के अध्यक्ष स्वरोज घोष ने कहा कि विशिष्ट पत्रकार व समाजसेवी गौतम नवलकर दलित लोगों के लिए काम करते हैं। लेकिन अचानक पुलिस ने दिल्ली से उन्हें गिरफ्तार किया था। इसके अलावा श्रमिक नेत्री सुधा भारद्वाज, अरुण फेरिइन समेत अन्यों को भी घर से गिरफ्तार किया गया था। भाजपा शासित महाराष्ट्र सरकार के उक्त कार्रवाई के विरोध में ही जलपाईगुड़ी संसोधनागार में बंद कैदी राजा सरखेल, शंभू सोरबन, फागुन मूर्मू व केएलओ बंदी मलखान सिंह ने अनशन शुरू किया।

इस दिन राजनीतिक बंदी मुक्ति कमेटी की ओर से जेल प्रबंधन को पत्र दिया जाना था, लेकिन जेल अधिकारियों ने पत्र स्वीकार नहीं किया। पत्र में कैदियों को लगातार अनशन नहीं करने की सलाह दी गई थी। लेकिन संगठन उनलोगों के अनशन का समर्थन कर रही है।

Posted By: Jagran