- नदी से अवैध तरीके से बालू-पत्थर निकालने के खिलाफ विशेष अभियान

- पुलिस व भू-राजस्व अधिकारियों के पहुंचने से पहले ही आरोपी फरार

जागरण संवाददाता, जलपाईगुड़ी: पुलिस को साथ लेने पर अभियान विफल हो जा रही है। उक्त आरोप भूमि व भूमि राजस्व विभाग के अधिकारियों ने लगाया है। नदी से अवैध रूप से बालू-पत्थर निकालने वालों के अभियान चलाने से पहले ही आरोपी फरार हो जाते हैं। आरोप है कि अभियान चलाने से पहले ही उनलोगों को खबर दे दी जाती है।

जलपाईगुड़ी जिलाधिकारी के निर्देश पर शुक्रवार को गुप्ता सूचना के आधार पर भूमि व भूमि राजस्व विभाग के अधिकारियों ने पांगा नदी के किनारे अवैध तरीके से बालू-पत्थर निकालने वालों के खिलाफ अभियान चलाया। लेकिन नदी किनारे पहुंचने से पहले ही सभी आरोपी मौके से फरार हो गए। इस दौरान एक ट्रैक्टर जब्त किया गया। इसके बाद ही अधिकारियों में गुस्सा देखा गया।

जलपाईगुड़ी के गड़ालबाड़ी ग्राम पंचायत के पांगा नदी इलाके में काफी दिनों से शिकायतें मिल रही थी कि यहां से अवैध तरीके से बालू-पत्थर निकाला जाता है। इसमें काफी प्रभावशाली लोगों का नाम भी शामिल है। गुप्ता सूचना के आधार पर ही शुक्रवार को नदी में अभियान चलाया गया। लेकिन पकड़ में कोई नहीं आया।

भूमि व भूमि राजस्व विभाग के अधिकारी विप्लव हलदार ने कहा कि एक ट्रैक्टर जब्त किया गया है। लेकिन मौके पर पहुंचने से पहले ही सभी आरोपी फरार हो गए। जिस दिन भी वे लोग पुलिस के साथ संयुक्त अभियान चलाते हैं तो सफलता नहीं मिलती है। आरोपी पहले ही फरार हो जाते हैं।

वहीं जलपाईगुड़ी कोतवाली थाना के आईसी विश्वाश्रय सरकार ने कहा कि भूमि राजस्व के अधिकारी ऐसा क्यों बोल रहे हैं, उनकी समझ से बाहर है। उक्त आरोपी बिल्कुल बेबुनियाद व गलत है। अभियान के दौरान एक साथ कई गाड़ियों को आते देखकर ही आरोपी पहले ही भाग जाते हैं।

इस बारे में डीएम शिल्पा गौरसरिया ने कहा कि विभिन्न कारणों से अचानक ही अभियान चलाया जाता है। अगर पुलिस के कारण ही आरोपियों को पकड़ने में अधिकारी सफल नहीं हो रहे हैं तो इस बारे में छानबीन की जाएगी।

Posted By: Jagran