जागरण संवाददाता, जलपाईगुड़ी: पांच वर्ष के बच्चे का बायां हाथ टूटा था, लेकिन जलपाईगुड़ी सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में चिकित्सकों उसके दाहिने हाथ का प्लास्टर कर दिया। उक्त घटना को लेकर अस्पताल परिसर में बच्चे के परिजनों ने हंगामा किया। स्थानीय लोगों में भी काफी गुस्सा देखा गया। बाएं हाथ के स्थान पर दाहिने हाथ का प्लास्टर करने को लेकर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी भी आश्चर्यचकित हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार जलपाईगुड़ी सदर ब्लॉक के संजय नगर कॉलोनी का निवासी रनबीर दास खेलने के दौरान अचानक गिर गया था। इस हादसे में उसका बांया हाथ टूट गया। घटना के तुरंत बाद ही परिवार वालों ने बच्चे को जलपाईगुड़ी सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में भर्ती कराया। यहां चिकित्सकों ने एक्सरे करने के बाद टूटे हाथ का प्लास्टर करने की सलाह दी। अस्पताल में प्लास्टर करने के बाद जब वह घर आया तो पता चला कि उसके टूटे हाथ के बदले दाहिने हाथ का प्लास्टर कर दिया गया है। इसके बाद परिवार वाले ग्रीन वैली समाजसेवी संगठन के माध्यम ये अस्पताल पहुंचे । संस्था के अध्यक्ष प्रशांत सरकार ने कहा कि चिकित्सकों से पूछताछ करने पर उन्होंने अपनी गलती स्वीकार ली है। जलपाईगुड़ी सदर अस्पताल के अधीक्षक डाक्टर गयाराम नस्कर ने कहा कि उक्त घटना के बारे में छानबीन की जा रही है।

Posted By: Jagran