जागरण संवाददाता, जलपाईगुड़ी: चिकित्सकों की लापरवाही से नवजात की मौत को लेकर जलपाईगुड़ी मदर एंड चाइल्ड हब में तनाव का माहौल देखा गया। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने गुस्साए लोगों को शांत कराया। आरोप है कि प्रसव के लिए आई गर्भवती को अस्पताल से छुट्टी दे गई थी। इसके बाद फिर इलाज कराने आने पर चिकित्सकों ने जन्मे संतान को मृत घोषित कर दिया। छोड़ दिया गया था। धुपगुड़ी के टांगामारी के निवासी चुमकी बेगम को प्रसव की तारीख 28 अगस्त बताई गई थी। इस आधार पर गत 26 अगस्त को उसे जलपाईगुड़ी मदर एंड चाइल्ड हब में भर्ती कराया गया था। लेकिन फिर चिकित्सकों ने 27 अगस्त को उसे छुट्टी दे दी। इसके बाद उसी रात को फिर चुमकी को अस्पताल में भर्ती कराया गया। फिर महिला ने मृत संतान को जन्म दिया। परिवार वालों का आरोप है कि अगर सटीक इलाज होता तो संतान मृत जन्म नहीं लेता। उक्त घटना को लेकर महिला के परिजनों ने अस्पताल में जमकर हंगामा किया। लोगों को शांत करने के लिए पुलिस को बुलाना पड़ा। मंगलवार को चुमकी के पति ने कार्यरत चिकित्सकों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है।

Posted By: Jagran