- रहीमपुर चाय बागान में वन विभाग की तरफ से वाहन तैनात करने की मांग

संवाद सूत्र, वीरपाड़ा: डुवार्स के विभिन्न इलाकों में जंगली हाथियों के उत्पात से श्रमिकों का बुरा हाल है। इस क्रम में मंगलवार देर रात रहीमपुर चाय बागान के मंदिर लाइन के रेती जंगल से दो जंगली हाथी निकलकर बागान के आंगनबाड़ी केंद्र की दीवार को तोड़ दिया। इसके बाद बागान के ही निवासी सुब्रत दत्त के राशन की दुकान को भी हाथियों ने तोड़ दिया। साथ ही ग्यारह बोरी चावल को भी नष्ट कर दिया।

दुकान के मालिक सुब्रत दत्त ने कहा कि देर रात हाथी ने घुसकर दुकान पर हमला किया। इसमें दीवार के साथ-साथ आवश्यक कागजात व दुकान में रखे सामग्री को भी नुकसान हुआ है। हाथियों के उत्पात में करीब 35 हजार रुपये का नुकसान हुआ है। उसने किसी तरह अपना व परिवार के लोगों की जान बचाई। चाय बागान के निवासी व पेशे से शिक्षक फारूक हुसैन ने कहा कि हाथियों को हमला रूटीन हो गया है। प्रतिदिन शाम होने के बाद ही लोगों में दहशत का माहौल फैल जाता है। हाथियों के डर से सड़कों पर सन्नाटा छा जाता है। इसलिये उनलोगों ने प्रतिदिन रहीमपुर चाय बागान में वन विभाग की तरफ से वाहन तैनात करने की मांग की है।

इस बारे में वन विभाग के दलगांव के रेंजर राजीव दे ने कहा कि नुकसान के बारे में विस्तारपूर्वक आवेदन करने पर सरकारी नियमानुसार पीड़ित परिवार को मुआवजा दिया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस