संवाद सूत्र, नागराकाटा: बारिश व बाढ़ का पानी घुसने से लोगों का काफी नुकसान हुआ है, लेकिन इसके बावजूद ग्राम पंचायत व प्रशासन से कोई भी हालचाल जानने के लिए नहीं आया। इसी कारण मंगलवार को लोगों ने सड़क जाम कर अपना विरोध दर्ज कराया। यह घटना नागराकाटा के सर्कस लाइन इलाके की है। स्थानीय लोगों का आरोप है कि राहत सामग्री देना तो दूर की बात है एक बार कोई देखने तक नहीं आया। गुस्से से लोगों ने बुद्ध मंदिर के सामने करीब दो घंटे तक सड़क जाम किया। बाद में पुलिस के हस्तक्षेप से लोगों को शांत किया जा सका।

गत रविवार रात की लगातार बारिश के बाद सर्कस लाइन व आसपास के 40 घरों में पानी घुस गया था। अभी भी कुछ पानी जमा हुआ है। इधर, प्रदर्शन के दौरान मौके पर सुलकापाड़ा के नवनिर्वाचित प्रधान आशा उराव ने कहा कि पानी के कारण नुकसान हुआ है। कोई हालचाल जानने नहीं आया, ये आरोप बिल्कुल गलत है। लोगों की मांग को लेकर जल्द ही कोई आवश्यक कदम उठाया जाएगा। ग्राम पंचायत की ओर से राहत सामग्री दी जाएगी।

Posted By: Jagran