- पहाड़ की तुलना में तराई-डुवार्स के श्रमिकों को बोनस कम मिलने से नाराज हुए आदिवासी संगठन संवाद सूत्र, नागराकाटा: एक ही राज्य में पहाड़ व तराई-डुवार्स के श्रमिकों के साथ अलग-अलग व्यवहार किया जा रहा है। पहाड़ के चाय श्रमिकों को 20 फीसद बोनस व तराई-डुवार्स के श्रमिकों को 18 फीसद बोनस देने से नाराज अखिल भारतीय आदिवासी विकास परिषद ने बाइक रैली निकालकर अपना विरोध दर्ज कराया। आदिवासी नेताओं ने तराई-डुवार्स के श्रमिकों को कम बोनस दिए जाने पर सवाल भी उठाए। रविवार को संगठन की ओर से एलेनबाड़ी से गैरकाटा तक रैली निकाली गई। इस दौरान आदिवासी समर्थकों ने तीर-धनुष भी निकाला था। रैली के दौरान अलग-अलग जगहों में पथ सभा भी की गई। अखिल भारतीय आदिवासी विकास परिषद के जलपाईगुड़ी जिला के अध्यक्ष राजेश लाकड़ा ने कहा कि एक ही राज्य में होकर तराई-डुवार्स के श्रमिकों के साथ सौतेला व्यवहार किया गया। पहाड़ को 20 फीसद और तराई-डुवार्स के श्रमिकों को 18 फीसद बोनस दिया गया है। ये डुवार्स के चाय बागानों के साथ अन्याय है। उक्त अनैतिक व्यवहार का उनलोगों ने विरोध जताया है। इस दिन बाइक रैली निकाली गई। भविष्य में जोरदार आंदोलन किया जाएगा। सरकार को सभी श्रमिकों के साथ समान व्यवहार करना चाहिए। इस दिन की रैली में उदलाबाड़ी, डामडिम, मालबाजार, चालसा, नागराकाटा समेत अन्य इलाकों से श्रमिक पहुंचे थे। किसी भी प्रकार की अशांति रोकने के लिए पुलिस की ओर से सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप