फोटो नंबर 2

::क्वार्टर में उस समय किसी के न रहने से टली बड़ी दुर्घटना

::ईसीएल द्वारा असुरक्षित घोषित करने के बाद भी रह रहे थे लोग

संवाद सहयोगी,जेकेनगर: सातग्राम एरिया के आमकोला कोलियरी की कॉलोनी का एक दो मंजिला क्वार्टर सोमवार की सुबह 8 बजे ढह गया। हालांकि उस समय क्वार्टर में किसी के न रहने के कारण जानमाल का नुकसान नहीं हुआ। लेकिन नीचे खड़ी एक मोटर साइकिल और एक चार पहिया वाहन उसकी चपेट में आकर दब गया। ईसीएल के द्वारा इस क्वार्टर को असुरक्षित घोषित किया जा चुका था।

बताया जाता है कि इस क्वार्टर को असुरक्षित घोषित किये जाने के बाद भी अवकाश प्राप्त रविन्द्र तिवारी के पुत्र अमरेश तिवारी अपने परिवार के साथ रह रहे थे। पूरा परिवार बगल के क्वार्टर में रहता था। इस क्वार्टर में सिर्फ बच्चे पढ़ाई करते थे। क्वार्टर में बच्चों की केवल कॉपी किताबें रखी थी। अमरेश के पिता रविन्द्र तिवारी चार साल पहले ईसीएल से अवकाश प्राप्त कर चुके है। वह वर्तमान में बिहार में अपने पैतृक आवास में रह रहे हैं। जबकि उनका पुत्र अमरेश तिवारी अपनी पत्नी और दो बच्चों के साथ इस क्वार्टर में रह रहे थे। अमरेश रानीगंज में एक गैरेज में काम करता है। घटना की जानकारी पाकर कोलियरी मैनेजर एके मंडल, जूनियर इंजीनियर (ओवरसियर) एस पाल और निमचा आइसी प्रभारी अखिल मुखर्जी घटनास्थल पर पहुंचे।

मैनेजर एके मंडल ने कहा कि यहां स्थित कई क्वार्टर को लिखित रुप से असुरक्षित घोषित करते हुए खाली करने को कहा गया था। इसके बावजूद क्वार्टर को खाली नहीं किया गया। उन्होंने कहा कि कई अन्य क्वार्टर में अवैध रूप से रह रहे लोगों से जल्द से जल्द क्वार्टर खाली करने को कहा गया है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप