- दुर्गापुर इस्पातनगरी के ए-जोन का था रहनेवाला

- दुर्गापुर के हेमशीला

-फांसी लगाकर उसने की आत्महत्या

जागरण संवाददाता,

दुर्गापुर : केरल के कोभालम शहर में दुर्गापुर के छात्र स्वर्णेंदु मुखर्जी (18) की मौत हो गई। वह पढ़ाई के लिए केरल गया था। उसकी मौत पर उसके सहपाठियों ने कॉलेज प्रबंधन के खिलाफ विरोध भी जताया था। वह एक निजी संस्थान में होटल मैनेजमेंट एंड केट¨रग टेक्नोलॉजी विभाग में द्वितीय वर्ष की पढ़ाई कर रहा था। वह वहां अपने कुछ साथियों के साथ किराया पर कमरा लेकर रहता था। उस कमरे में ही शुक्रवार को उसका फंदा से लटकता शव बरामद हुआ। शव के समीप से बांग्ला में एक सुसाइड नोट भी मिला। अनुमान किया जा रहा है कि मानसिक दबाव में छात्र ने आत्महत्या का रास्ता अपनाया है। वहीं निजी संस्थान की ओर से बताया गया है कि स्वर्णेंदु की कक्षा में उपस्थिति कम थी, इस कारण वह अगले सेमेस्टर की परीक्षा में नहीं बैठ सकेगा। जबकि उसके साथियों का कहना है कि कक्षा में उसकी उपस्थिति 74 फीसद थी। नियम के अनुसार 75 फीसदी उपस्थिति होने पर परीक्षा में बैठा जा सकता है। नियम से एक फीसद कम अनुपस्थिति वाले छात्र को कॉलेज प्रबंधन द्वारा परीक्षा में शामिल होने का मौका दिया जा सकता था। जबकि प्रबंधन का कहना है कि शारीरिक अस्वस्थता की स्थिति में ही 10 फीसद कम उपस्थिति वाले को भी मौका दिया जाता है। स्वर्णेंदु के परिवार वाले दुर्गापुर इस्पातनगरी के ए-जोन हर्षव‌र्द्धन रोड इलाके के निवासी है। उसके पिता विधान मुखर्जी की बेनाचिति में दुकान है। सूचना मिलने के बाद ही परिवार वाले केरल रवाना हो गए, जहां उसका अंतिम संस्कार किया गया। स्वर्णेंदु दुर्गापुर के हेमशीला मॉडल स्कूल का छात्र था, जहां से पढ़ाई पूरी कर होटल मैनेजमेंट की पढ़ाई के लिए केरल गया था।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप