दार्जिलिंग, संवाद सूत्र। पड़ोसी राज्य सिक्किम तक रेल लाइन पहुंचाने के लिए बीच में आई रुकावटों को दूर करने के लिए रेल विभाग के उच्च अधिकारी व जीटीए बोर्ड आफ एडमिनिस्ट्रेशन के चेयरमैन विनय तामांग के नेतृत्व में आगामी 4 अप्रैल को बैठक होने वाली है।

ममता बनर्जी ने रेलवे मंत्री रहते समय सिक्किम को रेल से जोड़ने के लिए लाइन बिछाने का अनुमोदन दिया था। लेकिन कार्य में काफी देर हो गया। अब केंद्र सरकार ने रेल लाइन बिछाने के काम में तत्परता दिखाई है। इसमें 43 किमी हिस्सा जीटीए के अंर्तगत भी आता है। इसलिये भारतीय रेल ने जीटीए से एनओसी मांगा है। वहीं जीटीए ने स्वीकृति पत्र देने के लिए अपनी तीन शर्तो को रखा है।

बीओए के चेयरमैन विनय तामांग ने कहा कि गोरखालैंड आंदोलन के दौरान बंगाल व सिक्किम के बीच रिश्ते में कुछ खटास आई थी। गत 17 मार्च को दोनों राज्यों की मुख्यमंत्री के साथ हुई बैठक के बाद फिर से संबंध में सुधार आए हैं। जीटीए बोर्ड के साथ भी सिक्किम के रिश्तों में सुधार देखने को मिलेंगे। शर्तो को मानने के बाद ही आगामी चार अप्रैल को बैठक का दिन तय किया गया है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस