दार्जिलिंग, एएनआई। पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग में बारिश का कहर जारी है पश्चिम बंगाल के सिक्किम-दार्जिलिंग मार्ग पर कालिम्पोंग में भारी बारिश और भूस्खलन के कारण राष्ट्रीय राजमार्ग 10 पर वाहनों की आवाजाही प्रभावित हुई हैै

 

जानकारी के अनुसार पश्चिम बंगाल को सिक्किम से जोड़ने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग 10 पर सेवोक में भूस्खलन हुआ है इस कारण सड़क बंद हो गई है और लंबा जाम लग गया है प्रशासन की ओर से रास्ता खोलने का प्रयास किया जा रहा है

जानकारी हो कि दार्जिलिंग से सटे सिलिगुड़ी में बुधवार को एक बड़ी घटना हुई थी जिसमें दो पर्यटक और एक ड्राइवर लापता हो गए थे  दोनों पर्यटक राजस्थान से हैं और ड्राइवर मल्टी यूटिलिटी व्हीकल (एमयूवी) चला रहा था दार्जिलिंग के नजदीक सोवेक में इनकी गाड़ी तिस्ता नदी में गिर गई एक स्थानीय व्यक्ति ने पुलिस को घटना की जानकारी दी। घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने गाड़ी का नंबर प्लेट, उसकी छत और एक जोड़ी जूते बरामद किए पुलिस ने आपदा प्रबंधन दल को इसकी जानकारी दी और लापता लोगों की तलाशी शुरू की गईऐसी आशंका जताई जा रही है कि तिस्ता नदी की तेज धार में गाड़ी बह गई जिसके शिकार ये तीनों लोग हो गएहालांकि पुलिस और बचाव दल लोगों की तलाश में जुटे हैं

जानकारी के अनुसार दार्जिलिंग में पिछले सात दिनों से हो रही लगातार बारिश के कारण राष्ट्रीय राजमार्ग 31 एवं राष्ट्रीय राजमार्ग दस पर भी भूस्खलन का सिलसिला जारी है। सिलीगुड़ी से डुआर्स को जोड़ने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग 31 एवं सिलीगुड़ी से सिक्किम एवं कालिम्पोंग जिले को जोड़ने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग दस भूस्खलन आने के कारण राजमार्ग ठप हो गया है। कल सुबह पांंच बजे के करीब राष्ट्रीय राजमार्ग 31 सेवक पुलिस पोस्ट के कुछ ही दूर आगे की सड़क पर पहाड़ से गीली मिटटी , पत्थर एवं पेड़ आने के कारण बंद हो गया। ऐसे ही हालत सेवक काली मंदिर के पास हैं जहां पर भी पहाड़ से गीली मिट्टी सड़क पर आ गिरी जिससे छोटी गाड़ियों को उक्त जगह से धक्के देकर पास करने की नौबत आ पड़ी।

सिलीगुड़ी से सेवक पार होने के साथ राजमार्ग दस के सेतिझोड़ा में बहुत अधिक मात्रा में पहाड़ोंं से पत्थर आने के कारण सिक्किम एवं कालिम्पोंग से निकली गाड़ी सेतिझोड़ा के एक पार तो सेवक से सिक्किम एवं कालिम्पोंग के तरफ आने वाले गाड़ी सेतिझोड़ा के उस पार लम्बी कतार में खड़ी हैं। दोनों राजमार्ग पर पीडब्लूडी विभाग मशीन से सड़क का मालबा साफ़ करने में जुटा है।

जानकारी हो कि सिलीगुड़ी में समतल व हिल्स में बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। कालिम्पोंग-सेवक के बीच कालीझोरा में भूस्खलन हुआ है। इसी तरह से सिक्किम में भी मानसून की बारिश शुरू हो गई है। सिक्किम सरकार ने राहत बचाव कार्य के लिए सभी विभाग को तैयारी दुरुस्त करने को कहा है। सिलीगुड़ी के निचले वार्ड में बारिश का पानी भर गया। उक्त पानी महानंदा में जा नहीं पा रहा है। 

इस बीच, पश्चिम बंगाल में लगातार बारिश के कारण दार्जिलिंग के टिंधरिया में भूस्खलन हुआ, जिससे एक घर, एक ट्रक और मोटर बाइक क्षतिग्रस्त हो गई। एनएच 55 अवरुद्ध हो गया है। दार्जिलिंग हिमालयन रेलवे डीएचआर टॉय ट्रेन सेवाओं को रोक दिया गया है। भूस्खलन हटाने का काम चल रहा है।

भूस्खलन की वजह से एनजेपी-दार्जिलिंग ट्वॉय ट्रेन सेवा ठप

बारिश की वजह से तीनधरिया समेत दार्जिलिंग पार्वत्य में क्षेत्र में कई जगहों पर हुए भू-स्खलन की वजह से एनजेपी-दार्जिलिंग ट्वॉय ट्रेन परिसेवा ठप हो गई है। दार्जिलिंग हिमालयन सूत्रों द्वारा मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार को दोनों ओर से ट्वॉय ट्रेन नहीं चली। हालांकि कर्सियांग-दार्जिलिंग व घूम-दार्जिलिंग ट्वॉय ट्रेन की ज्वॉय राइड सेवा जारी है। बताया गया कि बीते सोमवार की देर शाम से रातभर हुई बारिश से कई जगहों पर भू-स्खलन हो गया है। इस वजह से डीएचआर ट्रैक पर मिट्टी व पत्थर गिरा हुआ है।

इस बारे में एनएफ रेलवे कटिहार डिवीजन के एडीआरएम पार्थ प्रतीम रॉय ने बताया कि ट्रैक से मिट्टी व पत्थर हटाया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि बारिश के मौसम में हर साल रंगटंक से लेकर तीनधरिया व पगलाझोगरा विभिन्न जगहों पर भू-स्खलन से होने से ट्वॉय ट्रेन सेवा प्रभावित रहती है।

Posted By: Preeti jha