सिलीगुड़ी, जागरण संवाददाता। 1990 में यूनेस्को से विश्व धरोहर का दर्जा प्राप्त दार्जिलिंग हिमालयन रेलवे ने इस बार वर्ल्‍ड हेरिटेज का दर्जा प्राप्त  दुर्गा पूजा पर विशेष उपहार दिया है। कलश स्थापना के दिन न्यू-जलपाईगुड़ी से दार्जिलिंग के लिए ट्राइ विकली विस्टाडोम एसी पैसेंजर ट्वाय ट्रेन को हरी झंडी दिखाई जाएगी। वहीं षष्टी के दिन से ज्वाय राइड के लिए और चार ट्वाय ट्रेन चलेगी।

विदित हो कि 16 सिंतबर को रंगटंग और तिनधरिया के बीच भूस्खलन की वजह से फिलहाल ट्वाय ट्रेन बंद है। इसके पहले बीते एक सितंबर को भी इसी स्थान पर भूस्खलन की वजह से यह सेवा स्थगित की गई थी। 

डीएचआर से प्राप्त जानकारी के अनुसार ट्रैक मरम्मती का काम युद्धस्तर पर जारी है। 24 अगस्त तक मरम्मती कर ली जाएगी। अगले दिन ट्रायल रन के बाद 26 अगस्त से ट्वाय ट्रेन शुरू कर दी जाएगी।

सप्‍ताह में तीन दिन चलेगी ट्वाय ट्रेन 

बता दें कि इस बार कोलकाता के दुर्गा पूजा को यूनेस्को ने विश्व धरोहर का दर्जा दिया है। 26 सितंबर को कलश स्थापना है। इस दिन न्यू जलपाईगुड़ी रेलवे स्टेशन से दार्जिलिंग तक जाने वाली एसी पैसेंजर ट्रेन को हरी झंडी दिखाई जाएगी। 26 सिंतबर से यह ट्रेन सप्ताह में तीन दिन सोमवार, बुधवार और शनिवार को एनजेपी से सुबह दस बजे रवाना होगी और शाम साढ़े छह बजे दार्जिलिंग पहुंचेगी। वहीं 27 सिंतबर से प्रति मंगलवार, गुरुवार और रविवार को दार्जिलिंग से सुबह नौ बजे रवाना होगी और शाम के करीब साढ़े चार बजे न्यू जलपाईगुड़ी पहुंचेगी। इस ट्रेन में 15 सीटों वाली एक सीजेडवीसी एसी विस्टाडोम कोच और आठ सीटों वाली एक एसी रेस्तरां कोच पावर कार के साथ संयोजित होगी। दोनों तरफ की यात्रा के दौरान यह ट्रेन सिलीगुड़ी जंक्शन, सुकना, रंगटंग, तिनधरिया, गयाबाड़ी, महानदी, कार्सियांग, टुंग, सोनादा और घूम स्टेशनों पर रुकेगी। विस्टाडोम कोच में प्रति सीट का किराया 1500 और एसी रेस्तरां कोच में प्रति सीट का किराया 1300 रुपया है। 

इसके अतिरिक्त एक अक्टूबर यानी नवरात्र की षष्ठी तिथि को दार्जिलिंग से घूम के बीच चलने वाली ज्वाय राइड की संख्या संख्या बढ़ाकर 12 की जाएगी। जानकारी के मुताबिक फिलहाल ज्वाय राइड के तहत दार्जिलिंग से घूम के बीच आठ बार यह ट्रेन चलती है। 

कहते हैं डीएचआर निदेशक

इस संबंध में डीएचआर के निदेशक अरविंद मिश्रा ने बताया कि एनजेपी से दार्जिलिंग के बीच शुरू की जा रही ट्राइ विकली एसी विस्टाडोम पैसेंजर ट्रेन दुर्गा पूजा पर उपहार है। अब तक एनजेपी से दार्जिलिंग के बीच प्रतिदिन एक जोड़ी ट्रेन चलती थी। एक अक्टूबर से ज्वाय राइड की संख्या बढ़ाकर 12 की जा रही है। उन्होंने आगे बताया कि उत्सव के इस सीजन में बंपर बुकिंग चल रही है। 

Edited By: Sumita Jaiswal

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट