जलपाईगुड़ी, जागरण संवाददाता। नौकरी का लालच देकर पैसा ठगने के आरोप में महिला समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इसमें मुख्य आरोपी प्रशांत गड़ाई बांकुड़ा जिले के विष्णुपुर का रहने वाला है। साथ ही नदिया निवासी अभिजीत मौलिक व कोलकाता निवासी मीता दासगुप्ता का नाम भी शामिल है।

आरोपी महिला खुद को कमीश्नर घर की बहू बता रही है। ये गिरोह जलपाईगुड़ी, कूचबिहार समेत विभिन्न इलाकों में युवकों को नौकरी के नाम पर प्रताड़ित कर चुका है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार ये लोग विभिन्न कम्प्यूटर प्रशिक्षण केंद्र के साथ समझौता कर युवकों को नौकरी का लालच देते थे। आरोपी प्रशांत गड़ाई ने कहा कि उनलोगों ने नौकरी दिलाने के नाम पर वर्ष 2014 में कई युवक-युवतियों से पैसा लिया था, लेकिन बाद में पैसा वापस भी लौटा दिया गया था। वह निर्दोष है, उसे फंसाने की कोशिश की जा रही है। आरोपी महिला मिता दास ने भी खुद को निर्दोष बताया है।

गत मंगलवार रात को स्थानीय लोगों ने ही तीनों को पकड़ा था। उक्त घटना के बारे में मिली जानकारी के अनुसार शहर के नयाबस्ती निवासी श्याम साहा ने थाने में शिकायत करते हुए कहा कि कम्प्यूटर प्रशिक्षण में आए युवकों से नौकरी दिलाने के नाम पर प्रशांत गड़ाई व उसके साथियों ने 5 लाख 40 हजार ले चुका था। बार-बार बोलने के बावजूद नौकरी नहीं दिलाया जा सका।

इसके बाद तीनों को जलपाईगुड़ी के दिशारी मोड़ से गिरफ्तार किया गया। जलपाईगुड़ी कोतवाली थाना के आईसी विश्वाश्रय सरकार ने कहा कि शिकायत के आधार पर ठगी के आरोप में महिला समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। सभी को रिमांड पर लेकर पूछताछ की जाएगी। 

Posted By: Preeti jha