चेंगड़ाबांधा [संवादसूत्र]। कूचबिहार जिले के मेखलीगंज ब्लॉक की भोटबाड़ी पंचायत के 77 निजतरफ गांव  के  निवासी छपियार रहमान ने खुद पेट काट-काटकर शौचालय तो बनवाया ही, दूसरों को भी इसके लिए प्रेरित किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत मिशन के प्रति इनके समर्पण का संदेश जब मायानगरी मुम्बई तक पहुंचा तो रविवार को दूरदर्शन के स्टूडियो में बुलाकर फिल्म अभिनेता मनोज बाजपेयी और गोविंद नामदेव ने इनको सम्मानित ही नहीं किया, इनका साक्षात्कार भी लिया। 
    आर्थिक तंगी के चलते छपरियार के लिए जहां एक वक्त की रोटी का जुगाड़ करना मुश्किल है, वहीं घर में एक शौचालय का निर्माण करना वाकई आश्चर्य है। 60 वर्षीय छपियार का एक पैर नहीं है। इनकी माली हालत बहुत ही खराब है। एक पैर के भरोसे वे बाल-बच्चों के लिए किसी तरह रोटी का जुगाड़ करते हैं। इतने अभाव के बावजूद उन्होंने अपने घर में एक शौचालय बनवाया है। सिर्फ इतना  नहीं, वे गांव व आस-पास के गांवों के लोगों को भी शौचालय का इस्तेमाल करने के लिए प्रेरित कर रहे हैं।
   उनके इस नेक कार्य की गूंज मायानगरी तक सुनाई दी तो उनको बॉलीवुड अभिनेता मनोज बाजपेयी व गोविंद नामदेव का बुलावा आया। रविवार को मुंबई के दूरदर्शन के स्टूडियों में उनसे बातचीत की रिकॉर्डिंग की गई। छपियार ठीक से हिंदी नहीं बोल नहीं पाते हैं। अभिनेताओं ने जब उनके कार्यों की प्रशंसा की तो उन्होंने कहा कि उन्हें इतना अच्छा लग रहा है कि शब्दों में बयां नहीं कर सकते।
   उल्लेखनीय है कि छपियार के प्रयास की बदौलत गांव के कई लोगों ने अपने घर में शौचालय का निर्माण कराया है। 

Posted By: Rajesh Patel