-दल-बदल में दुबक गया विकास का मुद्दा

-साफ-सफाई पर भी कोई विशेष ध्यान नहीं जागरण संवाददाता, सिलीगुड़ी : सिलीगुड़ी नगर निगम के पांच नंबर वार्ड का विकास कार्य दल-बदल में दुबक कर रह गया। पांच नंबर वार्ड में विकास का आलम यह है कि लोग पेयजल को तरस रहे हैं। नगर निगम द्वारा मुहैया पेयजल संग्रह करते समय वार्ड वासियों के आंखो के पानी निकल आता है। साफ-सफाई से लेकर वार्ड के सड़कों की स्थिति बदहाल ही है।

नागरिकों को पेयजल मुहैया कराने के मामले में पांच नंबर वार्ड की स्थिति चार नंबर से भी बदतर है। पाइप लाइन में प्रेशर की यह स्थिति है कि पेयजल जमीन से दो फीट की उंचाई तक भी नहीं पहुंचती है। जिसकी वजह से पांच नंबर वार्ड में टाइम कल नदारद है। बल्कि जमीन से गुजरने वाली पाइप से ही पेयजल संग्रह करने को लोग मजबूर हैं। कहीं-कहीं को पेयजल संग्रह करने के लिए बरतन-डब्बे को नालों में रखना पड़ता है। फिर भी नल से जल बूंद-बूंद ही टपकता है। वार्ड की साफ-सफाई तो राम भरोसे ही है। नालों में जल जमाव से इलाके में मच्छरों का उपद्रव व दुर्गध से लोग परेशान हैं। सड़कों की स्थिति जर्जर है। इलाकाई लोगों का कहना है कि वर्ष 2015 के नगर निगम चुनाव में माकपा की घटक दल फॉरवार्ड ब्लॉक उम्मीदवार दुर्गा सिंह वार्ड पार्षद बनी। उसके करीब दो वर्ष बाद वार्ड के विकास कार्यो में गति लाने का आश्वासन जताकर तृणमूल का दामन थामा। लेकिन उसके बाद भी इलाके का विकास हुआ नहीं। फिर भी स्ट्रीट लाइट लगाकर उन्होंने इलाके को जगमगाया जरूर है।

बोली जनता :

नालों की स्थिति खराब

ब्रज किशोर प्रसाद : नालों की स्थिति काफी खराब है। सफाई कर्मचारी कभी-कभार ही दिखते हैं। इलाके की कुछ सड़के बनीं तो थी लेकिन फिर से जर्जर हो चली है। जमीन का पट्टा मिले

कृष्णा प्रसाद : इस वार्ड में सरकारी जमीन पर बसने वाले काफी गरीब लोगों को पंट्टा नहीं मिला है। बल्कि सामाजिक सुरक्षा योजना के तहत भत्ता का लाभ भी काफी लोगों को नहीं मिलता है।

पानी की बड़ी समस्या

काशीनाथ प्रसाद : इस वार्ड में पेयजल एक गंभीर समस्या है। पाइप से पेयजल संग्रह करना काफी दुखदायी है। पेयजल समस्या दूर करने पर पार्षद को ध्यान देना जरुरी है। सौंदर्यीकरण का काम हुआ

यदुनाथ प्रसाद यादव इलाके में स्ट्रीट लाइट, पार्क सौंदर्यीकरण आदि काम हुआ है। नालों की सफाई आदि नियमित नहीं होती है। पेयजल एक गंभीर समस्या है। इस समस्या के समाधान की पहल करनी चाहिए।

बोलीं पार्षद :

विरोधियों के षडयंत्र की वजह से डीप ट्यूब वेल लगाने के लिए जमीन नहीं मिली। नियमित रुप से साफ-सफाई होती है। स्ट्रीट लाइट व सड़क मरम्मती का कार्य हुआ है। फिर से जर्जर हुई सड़कों की मरम्मती कराई जा रही है। पार्क का सौंदर्यीकरण किया गया है। कई और कार्य इलाके में किए गए हैं।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021