दार्जिलिंग, [संवाद सूत्र]। पहाड़ मसले के समाधान को आगामी 16 अक्टूबर को राज्य सरकार और गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (गोजमुमो) के नेतृत्व में पहाड़ के राजनीतिक दलों के बीच होने वाली अगले दौर की बैठक से तीन दिन पहले शुक्रवार को दार्जिलिंग-सिक्किम सीमांचल के घने जंगलों में गोजमुमो प्रमुख बिमल गुरुंग की तलाश में की गई छापामारी के दौरान गुरुंग समर्थकों और पुलिस के बीच मुठभेड़ में एक सब-इंस्पेक्टर (एसआइ) शहीद हो गया एवं चार पुलिसकर्मी जख्मी हो गए। मृतक का नाम अमिताभ मल्लिक (28) है।

घटना में एक गोजमुमो समर्थक के मारे जाने व कई अन्य के जख्मी होने की भी खबर है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने घटना पर दुख जताते हुए मुख्यमंत्री राहत कोष से पीडि़त परिवार को तत्काल पांच लाख रुपये की आर्थिक मदद के साथ शहीद की पत्नी को पुलिस व पिता को शिक्षा विभाग में नौकरी देने का एलान किया है। इस बीच पुलिस ने कलिंपोंग में छापामारी कर बड़ी तादाद में हथियार बरामद किए हैं। इस मामले में चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है। 

बीते गुरुवार को ही गुरुंग ने ऑडियो टेप जारी कर पहाड़ पर लौटने का एलान किया था। गुप्त सूचना के आधार पर दार्जिलिंग सदर पुलिस ने सीमावर्ती तकवर क्षेत्र के वेंसवेंग चाय बागान के घने जंगलों में शुक्रवार प्रात: करीब 5 बजे तलाशी अभियान शुरू किया। उसी दौरान गुरुंग समर्थकों और पुलिस के बीच हुई भीषण मुठभेड़ में सदर थाने में तैनात उत्तर 24 परगना जिले के रहने वाले अमिताभ मल्लिक गोली लगने से शहीद हो गए। सदर थाने के चालक कुमार तामांग समेत अन्य तीन पुलिसकर्मी जख्मी हुए हैं।

घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अमिताभ मल्लिक के शव का जिला अस्पताल लाकर पोस्टमार्टम किया गया, जिसके बाद 'गार्ड ऑफ ऑनर' देते हुए सदर पुलिस थाना परिसर में अंतिम दर्शन के लिए रखा गया। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अमिताभ की छह माह पहले ही शादी हुई थी और वे सदर थाना परिसर में पत्नी के साथ रहते थे। 

गोरखालैंड क्षेत्रीय प्रशासन (जीटीए) की जगह गठित नए प्रशासनिक बोर्ड के अध्यक्ष विनय तामांग ने एसआइ की मौत पर दुख जताते हुए कहा कि दार्जिलिंग को कश्मीर बनाने की साजिश को कामयाब नहीं होने देंगे। ममता के बुलावे पर वे इस दिन कोलकाता पहुंचे थे।

मुठभेड़ के बारे में दार्जिलिंग के पुलिस अधीक्षक अखिलेश चतुर्वेदी ने बताया कि पुलिस द्वारा जारी आडियो टेप के आधार पर सीमावर्ती क्षेत्र में छापामारी की गई थी। उसी दौरान गुरुंग समर्थकों की ओर से फाय¨रग की गई, जिसमें सदर थाने के एसआइ की मौत हो गई। एसपी के अनुसार छापामारी के दौरान एक समर्थक को हिरासत में लिया गया है और बड़ी संख्या में हथियार बरामद किए गए हैं। छापामारी अभियान का नेतृत्व पुलिस उपाधीक्षक नागेंद्र त्रिपाठी व राहुल पांडे कर रहे थे। बरामद हथियारों में 9 एके-47 राइफल, 1800 गोलियां, डेटोनेटर, 20 जिलेटिन स्टिक के अलावा वाकी टाकी शामिल हैं। उन्होने गुरुंग का संबंध उत्तर-पूर्वी राज्यों के उग्रवादी गुटों से होने की आशंका जताई। चतुर्वेदी के अनुसार लेपचा बस्ती रीवर बेल्ट के पास गुरुंग का अड्डा होने की पुख्ता जानकारी प्राप्त हुई थी।

 

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप