-कानून व्यवस्था पर राज्य की ममता सरकार को घेरा

- मुर्शिदाबाद हत्याकांड की सीबीआई जांच की मांग जागरण संवाददाता, सिलीगुड़ी : मुर्शिदाबाद हत्याकांड को लेकर केंद्रीय राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने पश्चिम बंगाल की कानून व्यवस्था को कटघरे में खड़ा किया है। राज्य की कानून व्यवस्था और राजनीतिक स्थिति के आधार पर उन्होंने वर्ष 2021 में तृणमूल से साफ होने का भी दावा किया है। उन्होंने कहा कि ममता सरकार में पारदर्शिता और सुशासन की कमी है।

शुक्रवार को भारत सरकार के भारी उद्योग व सार्वजनिक उद्यम तथा संसदीय कार्य राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल सिलीगुड़ी पहुंचे। एक कार्यक्रम में पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने मुर्शिदाबाद के जियागंज हत्याकांड का जिक्र करते हुए राज्य की कानून व्यवस्था पर सवाल खड़ा किया। उन्होंने कहा कि यह हत्याकांड जघन्य है। यहां बता दें कि दुगरोत्सव के दशमी के दिन आरएसएस कार्यकर्ता,उनकी पत्‍‌नी तथा बेटे की हत्या कर दी गई है। इसके बाद भाजपा अक्रामक रूख के साथ मैदान में है। भाजपा के साथ केंद्रीय राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने भी हत्याकांड की सीबीआई जांच की मांग की है। राज्य सरकार को चेतावनी देते हुए केंद्रीय राज्य मंत्री ने हत्याकांड के खिलाफ कार्यवाई नहीं होने पर भाजपा जोरदार आंदोलन करेगी।

ममता सरकार को आड़े हाथो लेते हुए केंद्रीय राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने कहा कि विश्वविद्यालय में एक केंद्रीय मंत्री की सुरक्षा के लिए राज्यपाल को हस्तक्षेप करना ही राज्य के कानून व्यवस्था की पोल खोल दी। सारधा से लेकर नारदा कांड ने तो पहले ही ममता सरकार की पारदर्शिता को दर्शा दिया है। राज्य की बदलती राजनीतिक स्थिति से ममता सरकार बौखला गई है। बीते लोकसभा चुनाव में तृणमूल पश्चिम बंगाल में तो हाफ हो ही गई है, 2021 के विधान सभा चुनाव में पूरी तरह से साफ हो जाएगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप