सिलीगुड़ी, जेएनएन। सिलीगुड़ी में समतल व हिल्स में बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। कालिम्पोंग-सेवक के बीच कालीझोरा में भूस्खलन हुआ है। इसी तरह से सिक्किम में भी मानसून की बारिश शुरू हो गई है। सिक्किम सरकार ने राहत बचाव कार्य के लिए सभी विभाग को तैयारी दुरुस्त करने को कहा है। सिलीगुड़ी के निचले वार्ड में बारिश का पानी भर गया. उक्त पानी महानंदा में जा नहीं पा रहा है। 

इस बीच, पश्चिम बंगाल में लगातार बारिश के कारण दार्जिलिंग के टिंधरिया में भूस्खलन हुआ, जिससे एक घर, एक ट्रक और मोटर बाइक क्षतिग्रस्त हो गई। एनएच 55 अवरुद्ध हो गया है। दार्जिलिंग हिमालयन रेलवे डीएचआर टॉय ट्रेन सेवाओं को रोक दिया गया है। भूस्खलन हटाने का काम चल रहा है।

भूस्खलन की वजह से एनजेपी-दार्जिलिंग ट्वॉय ट्रेन सेवा ठप
बारिश की वजह से तीनधरिया समेत दार्जिलिंग पार्वत्य में क्षेत्र में कई जगहों पर हुए भू-स्खलन की वजह से एनजेपी-दार्जिलिंग ट्वॉय ट्रेन परिसेवा ठप हो गई है। दार्जिलिंग हिमालयन सूत्रों द्वारा मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार को दोनों ओर से ट्वॉय ट्रेन नहीं चली। हालांकि कर्सियांग-दार्जिलिंग व घूम-दार्जिलिंग ट्वॉय ट्रेन की ज्वॉय राइड सेवा जारी है। बताया गया कि बीते सोमवार की देर शाम से रातभर हुई बारिश से कई जगहों पर भू-स्खलन हो गया है। इस वजह से डीएचआर ट्रैक पर मिट्टी व पत्थर गिरा हुआ है।

इस बारे में एनएफ रेलवे कटिहार डिवीजन के एडीआरएम पार्थ प्रतीम रॉय ने बताया कि ट्रैक से मिट्टी व पत्थर हटाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि अगर फिर से भू-स्खलन नहीं होता है तो बुधवार को सुबह 11 बजे तक ट्रैक से मिट्टी व पत्थर हटा लिया जाएगा। उल्लेखनीय है कि बारिश के मौसम में हर साल रंगटंक से लेकर तीनधरिया व पगलाझोगरा विभिन्न जगहों पर भू-स्खलन से होने से ट्वॉय ट्रेन सेवा प्रभावित रहती है।

 

Posted By: Sachin Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस