कोलकाता, जेएनएन। कोलकाता के बैंकशाल कोर्ट स्थित राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) की विशेष अदालत 2 अक्टूबर, 2014 में बर्धमान जिले के खागड़ागढ़ में हुए बम धमाके के मामले में दोषी करार दिए गए चार बांग्लादेशी नागरिकों सहित 19 जेएमबी आतंकियों को शुक्रवार को सजा सुनाएगी। बुधवार को अदालत ने 19 को दोषी करार दिया था।

दो अक्टूबर, 2014 को तत्कालीन बर्धमान जिले के खागड़ागढ़ में आइईडी (इंप्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस) तैयार करते समय हुए धमाके में दो लोग मारे गए थे। इसके बाद जब एनआइए ने जांच शुरू की तो बंगाल में सक्रिय बांग्लादेश के आतंकी संगठन जमात-उल-मुजाहिदीन (जेएमबी) के बड़े नेटवर्क का पता चला।

इस मामले में एनआइए ने बंगाल, बिहार, झारखंड, असम समेत कई और राज्यों में छापेमारी कर जेएमबी के जुड़े होने के आरोप में 31 लोगों को गिरफ्तार किया था, जिनमें से 19 को दोषी करार दिया गया। आतंकी गतिविधियों, देश के खिलाफ युद्ध छेडऩे जैसी विभिन्न धाराओं के तहत इन आतंकियों को दोषी करार दिया गया है।   

एनआइए की विशेष अदालत ने बुधवार को 2014 में ब‌र्द्धमान जिले के खागड़ागढ़ में हुए बम धमाके के मामले में चार बांग्लादेशी नागरिकों सहित 19 जेएमबी आतंकियों को दोषी करार दिया है।

कोलकाता महानगर के बैंकशाल कोर्ट स्थित राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) की विशेष अदालत ने बुधवार को 2014 में ब‌र्द्धमान जिले के खागड़ागढ़ में हुए बम धमाके के मामले में चार बांग्लादेशी नागरिकों सहित 19 जेएमबी आतंकियों को दोषी करार दिया है। इन लोगों को कोर्ट आगामी 30 अगस्त को सजा सुनाएगी।

एनआइए अधिकारियों के मुताबिक इन आरोपितों ने अदालत के सामने अपने अपराधों को कबूल कर लिया है। 2 अक्टूबर, 2014 को तत्कालीन ब‌र्द्धमान जिले के खागड़ागढ़ में आइईडी तैयार करते समय हुए धमाके में दो लोगो मारे गए थे। इसके बाद जब एनआइए ने जांच शुरू की तो पता चला कि बंगाल में बांग्लादेश के आतंकी संगठन जमात-उल-मुजाहिदीन (जेएमबी) सक्रिय है।

यहां बांग्लादेशी आतंकियों ने बुर्का बनाने के नाम पर किराये का मकान लिया था और उसी की आड़ में वे लोग विस्फोटक तैयार करते थे और यहां से बांग्लादेश भेजते थे। इसके बाद एनआइए ने बंगाल, बिहार, झारखंड, असम समेत कई और राज्यों में छापेमारी कर जेएमबी के जुड़े होने के आरोप में 31 लोगो को गिरफ्तार किया था। जिनमें से 19 को भारतीय दंड संहिता की धारा 120बी (आपराधिक साजिश) और यूएपीए के तहत दोषी करार दिया गया है। तीस अगस्त को न्यायाधीश सजा की घोषणा करेंगे।

बताते चलें कि दो दिन पहले ही जेएमबी के इंडियन सरगना को कोलकाता पुलिस के स्पेशल टास्क फोर्स ने गया से गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार एजाज अहमद खागड़ागढ़ विस्फोट कांड के मुख्य साजिशकर्ता कौशर का करीबी है। इसी के माध्यम से एजाज जेएमबी शामिल हुआ था। वहीं 15 दिन पहले इंदौर से एनआइए की टीम ने जहीरुल शेख नामक एक और जेएमबी आतंकी को खागड़ागढ़ विस्फोटकांड में गिरफ्तार किया है। 

पढ़ें :  पढ़ाई के लिए समय नहीं मिलने पर अर्जुन ने ट्रेन को बना लिया है 'स्टडी रूम'

 प. बंगाल से जुड़ी बाकी खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप