सिलीगुड़ी [जागरण संवाददाता]। दार्जिलिंग जिले के खोरीबाड़ी थानांतर्गत भालूगाड़ा गांव में नाबालिग की शादी कराने की कोशिश एक परिवार को मंहगी पड़ी। प्रशासन की पहल पर लड़की के माता-पिता और रसोईया को जेल भेज दिया गया है।
खोरीबाड़ी थाना प्रभारी भूषण क्षेत्री ने बताया कि खोरीबाड़ी प्रखंड विकास पदाधिकारी योगेश चंद्र मंडल को सूचना मिली कि भालूगाड़ा के निकट एक लड़की की शादी हो रही है। उसकी उम्र 18 वर्ष से कम है। सूचना के आधार पर बीडीओ ने वहां पहुंचकर मामले की जांच की। जांच में स्पष्ट हो गया कि यहां शादी की पूरी तैयारी थी। उसके बाद पुलिस को सूचना दी गई।
फिर लड़की के पिता श्यामा सरकार, विमला सरकार तथा रसोइया निखिल सरकार को गिरफ्तार कर लिया गया। लड़की को नारी संरक्षण गृह भेजा गया है। सभी के खिलाफ बाल विवाह अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई है। थाना प्रभारी का कहना है कि गिरफ्तारी से दूसरे लोग बाल-विवाह के प्रति सजग होंगे।  

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Rajesh Patel