जागरण संवाददाता, सिलीगुड़ी। डुवार्स के बाद अब सिलीगुड़ी भी बच्चा चोर की अफवाह ने आतंक का रूप ले लिया है। शुक्रवार की रात एक युवक इस अफवाह की बलि चढ़ते-चढ़ते बचा। बच्चा चोर के संदेह में भीड़ ने उसकी जमकर पिटाई कर दी। बीते शुक्रवार की देर रात यह घटना शहर से सटे माटीगाड़ा थाना अंतर्गत पचकलगुड़ी इलाके में हुई है। 

घायल युवक का नाम जूएल दास (32) है। घटना की जानकारी मिलते ही माटीगाड़ा थाना पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने युवक को भीड़ से बचाकर परिवार वालों के हवाले किया। घायल के परिवार वालों ने माटीगाड़ा थाने में नामजद प्राथमिकी दर्ज करायी है। पिछले कुछ समय से बच्चा चोर की अफवाह ने डुवार्स इलाके में काफी आतंक मचा रखा है। बच्चा चोर के संदेह में तो भीड़ ने मानसिक रूप से बीमार एक व्यक्ति की पीट-पीट कर हत्या तक कर दी थी। अब बच्चा चोर की अफवाह ने सिलीगुड़ी को भी अपने गिरफ्त में ले लिया है।

पुलिस सूत्रों के अनुसार बीते शुक्रवार की रात माटीगाड़ा के पचकलगुड़ी इलाके में कुछ लोगों ने मानसिक रूप से बीमार एक युवक की बुरी तरह से पिटाई की। संदेह था कि वह बच्चा चोर है। घायल जुएल दास सिलीगुड़ी थाना अंतर्गत रवींद्र नगर इलाके का निवासी है। शुक्रवार सुबह से ही वह घर से लापता था। उसके बड़े भाई जीवेश दास ने बताया शुक्रवार वह गायब था। काफी खोजने पर भी उसका कुछ पता नहीं चला। फिर रात को एक पहचान वाले ने फोन पर घटना की जानकारी दी। जानकारी मिलते ही परिवार के लोग मौके पर पहुंचे और जुएल को बरामद कर उसका इलाज कराया। जीवेश ने बताया कि उस पर किसी भारी या धारदार हथियार से हमला किया गया है।

जानलेवा हमले में माटीगाड़ा थाने में नामजद प्राथमिकी दर्ज करायी गई है। दूसरी ओर माटीगाड़ा थाना पुलिस ने भारी व धारदार हथियार से जानलेवा हमले के आरोपों को खारिज किया है। माटीगाड़ा थाना पुलिस ने बताया कि किसी गलतफहमी की वजह से भीड़ ने उसके साथ हल्की मारपीट की है। इस मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

बंगाल की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप