-सिलीगुड़ी महकमा परिषद का चुनाव अविलंब कराए जाने की मांग

-अब 23 सितंबर को सिलीगुड़ी नगर निगम के मुद्दे पर नागरिक सम्मेलन जागरण संवाददाता, सिलीगुड़ी : दार्जिलिंग जिला वाममोर्चा की ओर से बुधवार को यहां सिलीगुड़ी महकमा परिषद अभियान अंजाम दिया गया। इसके तहत शहर में रैली निकाली गई व सिलीगुड़ी महकमा परिषद जा कर वहां विरोध प्रदर्शन किया गया। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने बैनर, पोस्टर व प्ले कार्ड प्रदर्शित करते हुए एवं नारेबाजी करते हुए पश्चिम बंगाल राज्य की तृणमूल कांग्रेस सरकार को जम कर कोसा। उन्होंने अविलंब सिलीगुड़ी महकमा परिषद का चुनाव कराए जाने की मांग की। अन्यथा, और जोरदार आंदोलन की चेतावनी दी।

इस अवसर पर दार्जिलिंग जिला वाममोर्चा के वरिष्ठ नेता अशोक भट्टाचार्य ने रोष जताते हुए कहा कि सिलीगुड़ी महकमा परिषद के निर्वाचित बोर्ड की पांच वर्षो की मीयाद एक बरस पहले ही पूरी हो चुकी है। इसके बावजूद राज्य सरकार इसका चुनाव नहीं करवा रही है। कोरोना महामारी का बहाना कर चुनाव को टाले जा रही है। जब कोरोना महामारी का बहुत ज्यादा प्रकोप था तब विधानसभा चुनाव हो सकता है तो अब तो कोरोना महामारी का प्रभाव बहुत कम हो गया है तो, महकमा परिषद चुनाव क्यों नहीं सकते हैं? महकमा परिषद का निर्वाचित बोर्ड नहीं होने के कारण पंचायती क्षेत्रों का विकास यहां तक कि आम लोगों को मिलने वाली बुनियादी सामाजिक परिसेवा का लाभ मिलने आदि का कार्य बुरी तरह प्रभावित हो रहा है। हमारी मांग है कि अविलंब न सिर्फ सिलीगुड़ी महकमा परिषद बल्कि सिलीगुड़ी नगर निगम का भी चुनाव कराया जाए।

उन्होंने यह भी कहा कि यह जनहित के लिए अत्यंत चिंतनीय है कि सिलीगुड़ी नगर निगम को पिछले डेढ़ सालों से केवल प्रशासकों के सहारे ही चलाया जा रहा है। मई 2020 में ही सिलीगुड़ी नगर निगम के पूर्व निर्वाचित बोर्ड की मीयाद पूरी हो चुकी है। उसके बावजूद अब तक चुनाव नहीं कराया जा रहा है। एक के बाद एक केवल प्रशासक व प्रशासकीय समिति द्वारा ही नगर निगम को चलाया जा रहा है। नगर निगम की वर्तमान प्रशासकीय समिति काम का काम कुछ नहीं कर रही है। लोगों को केवल और केवल झूठे वायदों से ही बहलाए जा रही है। सिलीगुड़ी नगर निगम का वर्तमान बोर्ड ऑफ एडमिनिस्ट्रेटर्स अवैध है। कानूनन निर्वाचित बोर्ड की मीयाद पूरी हो जाने पर अधिकतम छह महीने व आपात परिस्थिति में और अतिरिक्त छह महीने ही प्रशासकीय व्यवस्था रखी जा सकती है। पर, यहां बीते डेढ़ साल से भी अधिक समय से प्रशासक से ही काम चलाया जा रहा है। इसके विरुद्ध हम लोग अदालत का दरवाजा खटखटाएंगे। अविलंब सिलीगुड़ी नगर निगम व सिलीगुड़ी महकमा परिषद का चुनाव कराया जाए। निर्वाचित बोर्ड कामकाज संभाले। इन मुद्दों को लेकर हम लोगों ने आज 15 सितंबर को महकमा परिषद अभियान अंजाम दिया। अब 23 सितंबर को सिलीगुड़ी नगर निगम के मुद्दे को लेकर नागरिक सम्मेलन करेंगे। इस दिन विरोध प्रदर्शन में वाममोर्चा के दार्जिलिंग जिला सचिव जीवेश सरकार व अन्य कई सम्मिलित रहे।

Edited By: Jagran