- 11 लाख रुपये से अधिक लेकर भागे बदमाश

-बारह 12 घटे के अंदर ही पुलिस ने तीन को दबोचा

-अभी रकम की नहीं हो सकी है बरामदगी

-रिमांड पर लेकर पूछताछ करने में जुटी है पुलिस

05

बदमाश पहले से ही घात लगाकर बैठे थे

02

आरोपितों की तलाश में छापेमारी जारी है

11

लाख पांच हजार रुपये की हुई है लूट जागरण संवादाता, सिलीगुड़ी:दिनदहाड़े अपहरण कर लूट की घटना ने सनसनी मचा दी है। इससे ना केवल आम लोगों में खलबली मच गई थी बल्कि पुलिस की नींद भी उड़ गई थी। हालाकि पुलिस की सक्रियता से 12 घटे के अंदर ही तीन आरोपितों को दबोच लिया गया। जबकि दो अन्य आरोपितों की तलाश की जा रही है।

यह घटना सिलीगुड़ी मेट्रोपॉलिटन पुलिस के अधीन न्यू जलपाईगुड़ी थाना इलाके के उत्तरकन्या क्षेत्र में हुई है। मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार को एक फाइनेंस कंपनी के कर्मचारी एक ग्यारह लाख 5000 रुपये लेकर सिलीगुड़ी के एक बैंक में जमा कराने निकले थे। पुलिस सूत्रों के अनुसार फाइनेंस कंपनी का कर्मचारी परितोष राय जैसे ही उत्तरकन्या इलाके से गुजर रहा था कुछ लोगों ने उसका अपहरण कर लिया। बदमाश उसे लेकर किधर गए उसे पता नहीं चला। लेकिन बाद में उसे मालबाजार के क्राति इलाके से बेहोश अवस्था में बरामद किया गया। उसकी तो बरामदगी हो गई लेकिन उसके पास जो एक ग्यारह लाख पांच हजार रुपये थे उसका कोई अता-पता नहीं चला। बदमाश रकम लेकर चंपत हो गए थे।

इस बात की सूचना जैसे ही पुलिस को मिली, पूरे विभाग में खलबली मच गई। उत्तरकन्या इलाका काफी सुरक्षा वाला इलाका है। यहा राज्य मिनी सचिवालय है। यहा हर वक्त पुलिस की तैनाती ही रहती है। इसके साथ ही पेट्रोलिंग वैन की आवाजाही भी लगातार होती है। उसके बाद भी एक व्यक्ति का अपहरण हो जाता है और उससे रुपए लूट लिए जाते हैं। पुलिस के आला अधिकारी यह सोचकर ही परेशान थे। जैसे ही पुलिस को इस घटना की जानकारी मिली सभी थाना क्षेत्र को सतर्क कर दिया गया और 12 घटे के अंदर ही पुलिस ने तीन आरोपितों को दबोच लिया। जिन लोगों को पकड़ा गया है उसका नाम आशीष विश्वास, संजय मोदक एवं श्यामल राय है। इसमें से आशीष विश्वास राजगंज के सुभाषपल्ली इलाके का रहने वाला है। जबकि संजय मोदक उसी क्षेत्र के बामनपाड़ा एवं श्यामल राय रामनाबंका इलाके का रहने वाला है। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार तीनों को गिरफ्तार कर जलपाईगुड़ी अदालत में पेश किया गया है। पुलिस ने पूछताछ के लिए तीनों को रिमाड पर लिया है। पुलिस सूत्रों ने बताया है कि अपहरण और लूट की इस घटना में 5 लोग शामिल थे। तीन लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है। बाकी दो अन्य लोगों की तलाश में पुलिस जुटी हुई है। घात लगाए बैठे थे बदमाश

यह घटना मंगलवार दोपहर को हुई है। बताया गया है कि जिस समय परितोष राय रुपए लेकर सिलीगुड़ी के एक बैंक में जा रहा था उस समय उत्तरकन्या इलाके में 5 लोग घात लगाए बैठे थे। पाचों ने उसे जबरदस्ती एक गाड़ी में बिठा लिया। इस घटना के बाद उसके परिवार वालों ने न्यू जलपाईगुड़ी थाना में लिखित शिकायत दर्ज कराई। शिकायत दर्ज होते ही पुलिस मामले की जाच में जुट गई। सिविल ड्रेस पुलिस को आरोपितों की तलाश में जहा-तहा दौड़ाया गया। कैसे हुई तीनों की गिरफ्तारी

मामले को सुलझाने के लिए सबसे पहले परितोष राय की तलाश जरूरी थी। उसका अपहरण हो गया था। पुलिस का कहना है कि परितोष राय के मिल जाने के बाद ही पूरे मामले का खुलासा हो सकता था। इसलिए पहले परितोष की तलाशी पर जोर दिया गया। परितोष को आखिरकार बेहोशी की हालत में क्राति इलाके से बरामद कर लिया गया। पूछताछ के बाद पुलिस को कई सुराग हाथ लगे। उसके बाद ही 3 आरोपितों की गिरफ्तारी हुई।

न्यू जलपाईगुड़ी थाना के पुलिस अधिकारी का कहना है कि अभी लूट के रकम की बरामदगी नहीं हो सकी है। तीनों अभियुक्तों को रिमाड पर लिया गया है और उनसे पूछताछ की जा रही है। पूछताछ के बाद रकम की भी बरामदगी भी हो जाएगी। साथ ही जो और लोग इस मामले में शामिल हैं,उनकी भी गिरफ्तारी होगी।

Edited By: Jagran