सिलीगुड़ी [जागरण संवाददाता]। भारतीय जनता पार्टी की आगामी सात दिसंबर से शुरू होने वाली रथयात्रा की तैयारी को देखने के लिए भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव सह पश्चिम बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय पूर्व केंद्रीय मंत्री मुकुल रॉय के साथ सिलीगुड़ी पहुंचे। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी से राज्य की सरकार भयभीत है। इसीलिए रथयात्रा निकालने की अनुमति नहीं दे रही है।
यह स्वस्थ लोकतंत्र के लिए ठीक नहीं है। रथयात्रा के दौरान सिलीगुड़ी होने होने वाली सभा के प्रस्तावित स्थल कावाखाली में उन्होंने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी 16 दिसंबर को सिलीगुड़ी में उत्तर बंगाल के लोगों को संबोधित करेंगे। स्वयं प्रधानमंत्री ने 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले बंगाल के सभी प्रमुख स्थानों पर जनता के बीच जाने की इच्छा व्यक्त की है। किसी और का कार्यक्रम रद हो भी सकता है, परंतु उनका कार्यक्रम रद नहीं होगा। पूरी रिपोर्ट एसपीजी को दी जाएगी और आगे की कार्रवाई होगी।
उन्होंने कहा कि बंगाल में लोकतंत्र है या नहीं, इसी के लिए रथयात्रा निकाली जा रही है, ताकि प्रदेश की जनता को राज्य की वास्तविकता के बारे में पता चल सके। इसी बात से भयभीत हो राज्य सरकार रथयात्रा की अनुमति नहीं दे रही है। पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के संदर्भ में उन्होंने कहा कि तीन राज्यों मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में पूर्ण बहुमत से भाजपा सरकार बनाएगी। इसको लेकर किसी को कोई गलतफहमी नहीं होनी चाहिए।
तीनों राज्यों में भाजपा को जनता पहले से अधिक सीटों से विजयी बनाएगी। छत्तीसगढ़ में कांग्रेस नक्सल प्रभावित इलाकों में अपनी मजबूत पकड़ बता रही है। परिणाम आने के बाद पता चल जाएगा। रही बात मध्यप्रदेश की तो जनता पहले से ही अधिक सीटों पर भाजपा को विजयी बनाने का मन बना चुकी है। अपने बेटे के चुनाव के बारे में उन्होंने कहाकि वह जनता के बीच रहने वाला युवा है। उसकी जीत में कोई शंका ही नहीं है। राजस्थान को लेकर भी भाजपा पूरी तरह आशान्वित है। उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में गोरक्षा के नाम पर भड़की हिंसा और इंस्पेक्टर की मौत के सवाल पर उन्होंने कहा कि घटना दु:खद है। इसकी जितनी निंदा की जाए, कम होगी। इसको लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एसआइटी का गठन कर दिया है, जो दोषी होगा उसे सजा मिलेगी।  

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस