सिलीगुड़ी, जागरण संवाददाता। उत्तर बंगाल मेडिकल कॉलेज व अस्पताल में गुरुवार को दूसरे दिन ओपीडी सेवा बंद है। ओपीडी में दिखाने आने वाले मरीज व उनके परिजन टिकट काउंटर के पास जमे हुए हैं। दौरान टिकट काउंटर नहीं खुलने पर उनके सब्र का बांध टूट गया, वे नारेबाजी करते हुए मेडिकल अधीक्षक के कार्यालय तक पहुंच गए और अपने गुस्से का जमकर इजहार करने लगे।

इस दौरान काफी संख्या में पहुंची पुलिस ने उन्हें समझाने की भरपूर कोशिश करती रही तथा वैकल्पिक व्यवस्था देने की बात कही गई। एनबीएमसीएच में में ओपीडी सेवा बंद होने से ओपीडी में दिखाने आने वाले सैकड़ों की संख्या में मरीज परेशान दिखे।

इधर जूनियर डॉक्टरों का कहना है कि जब तक कोलकाता के नीलरतन सरकार मेडिकल कॉलेज अस्पताल में बीते सोमवार की रात जूनियर डॉक्टरों के साथ हुई मारपीट की घटना में जिम्मेदार लोगों को गिरफ्तार कर उन पर कार्रवाई नहीं होती है, तब तक उनका यह हड़ताल जारी रहेगा।

जूनियर डॉक्टरों ने बीते मंगलवार को मेडिकल अस्पताल में इमरजेंसी सेवा पूरी तरह से ठप कर दिया था। इसको लेकर मरीज के परिजनों नें भी जमकर विरोध प्रदर्शन किया था। वही बुधवार से ओपीडी सेवा भी ठप होने से एनबीएमसीएच का चिकित्सा व्यवस्था चरमरा गई है। स्थिति तनावपूर्ण देखते हुए एनबीएमसीएच परिसर में काफी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। आपातकालीन सेवा के लिए एनबीएमसीएच की ओर से गुरुवार को भी वैकल्पिक व्यवस्था की गई है। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस