दार्जिलिंग, [जागरण संवाददाता] । कुछ माह पहले अखिल भारतीय गोरखा लीग के प्रमुख मदन तमांग हत्या मामले मे कोलकाता के सिटी सेशन कोर्ट ने दार्जिलिंग के कद्दावर गोरखा नेता विमल गुरुंग को राहत दी थी। अब सीबीआइ निचली अदालत के उस फैसले को कलकलाा हाईकोर्ट मे चैलेंज करने जा रही है।

मदन तमांग हत्या मामले मे विमल गुरुंग, आशा गुरुंग, हरकाबहादुर क्षेत्री, रौशन गिरि, प्रदीप प्रधान समेत 26 के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया गया था। बाद मे सीबीआइ ने 48 लोगो के खिलाफ चार्जशीट पेश किया था। उनके खिलाफ धारा 120बी (हत्या की कोशिश) व धारा 302 (हत्या) के तहत मामला दर्ज किया गया था पर विमल गुरुंग के खिलाफ पर्याप्त तथ्य नही मिलने के बाद निचली अदालत ने उन्हे इस मामले से बरी कर दिया था।

सीबीआइ सूत्रो के अनुसार निचली अदालत के इस फैसले के चैलेज करते हुए सीबीआइ बहुत जल्द गुरुंग के खिलाफ कलकलाा हाईकोर्ट मे आवेदन करेगी। ज्ञात हो कि 21 मई 2010 को गोरखा लीग के अध्यक्ष मदन तमांग की हत्या की गई थी। पहले सीआइडी इस मामले की जांच कर रही थी। बाद मे इसकी जांच सीबीआइ ने अपने हाथो मे लिया था।

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप