सिलीगुड़ी, जेएनएन। उत्तर बंगाल के रास्ते सोने की तस्करी बढ़ती ही जा रही है और पश्चिम बंगाल इस तस्करी का केंद्र बनता जा रहा है। सोने के तस्कर बांग्लादेश और नेपाल सीमा से बड़े पैमाने पर अवैध ढंग से सोना मंगा रहे हैं। तस्करी से आया यह सोना देश के अन्य शहरों में भेजा जाता है। पहले हवाई मार्ग तस्करी का सबसे सुगम जरिया था, लेकिन अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डों पर सुरक्षा एजेंसियों के सतर्क हो जाने के बाद से तस्करों ने सीमा मार्ग का इस्तेमाल शुरू कर दिया है। बांग्लादेश और नेपाल की खुली सीमाएं पश्चिम बंगाल से सटी हुई है।इसलिए तस्करों ने बंगाल को तस्करी का हब बना लिया है।

गौरतलब है कि राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआइ) की कोलकाता जोनल यूनिट की टीम ने एक गुप्त सूचना पर कार्रवाई करते हुए सिलीगुड़ी से 10 किलोग्राम वजन के विदेशी सोने के 60 बिस्कुट जब्त किए हैं। जब्त सोने का अंतरराष्ट्रीय बाजार में मूल्य करीब 3.80 करोड़ रुपये है। सोने के साथ मिजोरम के तीन लोगों को भी गिरफ्तार किया गया है। सूत्रों ने बताया कि एक खुफिया सूचना पर विशेष छापेमारी अभियान चलाकर डीआरआइ टीम ने सिलीगुड़ी इलाके में एक कार से यह सोना जब्त किया गया। तीनों लोग इसी कार में सवार थे।

कार की तलाशी लेने पर इसमें छिपाकर रखे गए 60 सोने के बिस्कुट मिले। सूत्रों का कहना है कि म्यांमार से तस्करी का यह सोना लाया गया था। हालांकि डीआरआइ ने आधिकारिक तौर पर सोने की बरामदगी के बारे में फिलहाल कुछ बताने से इन्कार किया है। वहीं, सूत्रों की मानें तो फिलहाल डीआरआइ अधिकारी तीनों आरोपियों से पूछताछ कर यह जानने की कोशिश में जुटे है कि सोना कहां से और कैसे लाए एवं कहां पर इसकी डिलीवरी की जानी थी। साथ ही, सोने तस्करी में शामिल गिरोह के बारे में भी उनसे पूछताछ की जा रही है।

बंगाल की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप