संवाद सूत्र, वीरपाड़ा। बंगाल में विवाद के बाद आक्रोशित लोगों ने चार घरों को आग के हवाले कर दिया। यह घटना अलीपुरद्वार जिले को वीरपाड़ा थाना के अंतर्गत डिमडिमा चाय बागान के तराजू लाइन इलाके की है। साथ ही, धारदार हथियार के हमले में घायल हुए बिरजू पन्ना नामक युवक को गंभीर हालत में अलीपुरद्वार जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। आक्रोशित लोगों ने 10 से 12 लोगों को एक घर में कैद कर जलाने की कोशिश की। बाद में किसी तरह वीरपाड़ा पुलिस ने उन लोगों को बाहर निकाला। इस दौरान लोगों के पत्थरबाजी में वीरपाड़ा थाना के एसआइ समेत कई पुलिस कर्मी भी घायल हुए हैं। डिमडिमा चाय बागान के तराजू लाइन के निवासी ताराचंद लोहार पहले से ही कई मामले में आरोपित हैं। छिनतई, बाइक चोरी समेत कई आपराधिक घटनाओं में उनका नाम शामिल है।

इस तरह हुआ विवाद

असामाजिक कार्य में लिप्त रहने के कारण ताराचंद लोहार को काफी दिनों पहले रामझोड़ा चाय बागान से निकाल दिया गया था। इसके बाद से ही वह डिमडिमा चाय बागान के तराजू लाइन के निवासी अशोक सिंह के यहां घर जमाई बनकर रह रहा था। स्थानीय लोगों ने बताया कि शुक्रवार रात को दशमी के दिन विसर्जन के दौरान ताराचंद लोहार के बेटे अर्जुन लोहार के साथ भेलवा लाइन के बिरजू पन्ना का किसी बात को लेकर विवाद हो गया था। प्रतिमा विसर्जन के बाद सभी घर लौट रहे थे। तभी अर्जुन लोहार ने बिरजू पन्ना पर धारदार हथियार से हमला कर दिया। फिर गंभीर रूप से घायल अवस्था में बिरजू को अलीपुरद्वार जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। इसकी जानकारी मिलते ही स्थानीय लोगों का गुस्सा फूट पड़ा। सभी लोगों ने एकजुट होकर ताराचंद के घर में पहले तोड़फोड़ की। फिर उस घर को आग के हवाले कर दिया। जब बचने के लिए ताराचंद और उसके परिवार ने अपने परिचित अशोक सिंह के घर में आश्रय लिया तो लोगों ने उनके घरों को भी आग के हवाले कर दिया।

मौके पर पहुंची पुलिस

इधर, इस संबंध में जानकारी मिलते ही वीरपाड़ा थाना से काफी संख्या में पुलिस मौके पर पहुंची। उसके बाद फालाकाटा, मदारीहाट, कुमार ग्राम समेत जिले के विभिन्न थानों से भी काफी संख्या में पुलिस मौके पर पहुंची। इस आगजनी के बाद लोगों ने घंटों 48 नंबर राष्ट्रीय राजमार्ग भी जाम किया। इस कारण दमकल भी सटीक समय पर नहीं पहुंच पाई। आगजनी में ताराचंद के एक और अशोक सिंह के तीन घर जल गए। इधर, आग लगाने, तोड़फोड़ पुलिस के काम में बाधा समेत हत्या की कोशिश समेत कई मामलों को लेकर ताराचंद लोहार, बीरबल सिंह, अर्जुन लोहार व देवराज लोहार को गिरफ्तार किया गया है। जयगांव के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कुंतल बनर्जी ने कहा कि सभी को अलीपुरद्वार में कोर्ट में पेश कर 14 दिन की रिमांड पर लेने का आवेदन करेंगे। मामले की जांच की जा रही है। 

Edited By: Sachin Kumar Mishra