सिलीगुड़ी,  जागरण संवाददाता। आबकारी विभाग की बागडोगरा इकाई की टीम ने सिलीगुड़ी, जलपाईगुड़ी व नक्सलबाड़ी की टीम के सहयोग से छापेमारी कर लगभग 10 लाख रुपये मूल्य की नकली विदेशी शराब, स्प्रिट व शराब बनाने की अन्य सामग्री जब्त की है। गुप्ता सूचना के आधार पर मंगलवार (11 अक्‍टूबर) तड़के, सिलीगुड़ी महकमा के फांसीदेवा प्रखंड के डांगापाड़ा अंतर्गत काजीगच्छ इलाके में यह अभियान चलाया गया। इसमें 2,000 लीटर नकली विदेशी शराब, 500 लीटर स्प्रिट व शराब बनाने की अन्य सामग्री बरामद हुई जिसे जब्त कर लिया गया है।

दबिश की भनक धंधेबाजों को पहले लग गई

हालांकि, आबकारी विभाग की टीम की दबिश की भनक पा कर नकली शराब के करोबारी पहले ही भाग खड़े हुए। इसीलिए किसी को गिरफ्तार नहीं किया जा सका। आबकारी विभाग की बागडोगरा इकाई के प्रभारी अधिकारी अंकुर राय ने कहा है कि इस अवैध कारोबार में संलिप्त लोगों की तलाश शुरू कर दी गई है। वे जल्द ही पकड़ में आ जाएंगे।

बिहार में शराब प्रतिबंधित होने के बावजूद ज्‍यादा कीमत पर धड़ल्‍लेे से बिकती 

उन्होंने यह भी कहा कि, संभवत: दिवाली के त्योहार के मद्देनजर पड़ोसी राज्य बिहार में तस्करी करने हेतु ही ये नकली विदेशी शराब बनाई जा रही थी। उल्लेखनीय है कि स्प्रिट से बनाई जाने वाली इस शराब को विदेशी शराब के ब्रांड वाली बोतलों व पैकेट में पैक कर कार्टन में रखा गया था। ये शराब बिहार में तस्करी करने की योजना थी। बिहार में शराब प्रतिबंधित है। मगर, चोर बाजार में ज्यादा कीमत पर धड़ल्ले से इसकी बिक्री होती है। इसी का फायदा उठा कर शराब माफिया स्प्रिट से नकली शराब बना कर उस पर विदेशी ब्रांड के लेबेल लगा कर और पैकेट में पैक कर विदेशी शराब के तौर पर इसे बेचते हैं। ऐसी शराब जानलेवा भी साबित हो जाती है।

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट