कोलकाता, जागरण संवाददाता। महाभारत के 11 नारी चरित्रों को ट्रांसजेंडर निभाते नजर आएंगे। सातवें ‘ऋतु उत्सव’ के तहत आगामी तीन सितंबर को कोलकाता के आइसीसीआर स्थित सत्यजीत रे ऑडिटोरियम में ‘महामानबी’ नामक इस नृत्य नाटिका का मंचन होगा।

महाभारत के जिन नारी चरित्रों को नृत्य नाटिका में दर्शाया जाएगा, उनमें गंगा, सत्यवती, कुंती, द्रौपदी, अंबा, माद्री, गांधारी, चित्रंगदा, शुभद्रा, उत्तरा और शिखंडी शामिल हैं। नृत्य नाटिका में ‘रुद्रपलाश’ के कलाकार परफार्म करेंगे।

गौरतलब है कि रुद्रपलाश ट्रांसजेंडर कलाकारों की नाटक मंडली है। रुद्रपलाश की प्रमुख मेघ सायंतनी घोष ने कहा, ‘बंगाल के प्रख्यात फिल्मकार ऋतुपर्णो घोष को श्रद्धांजलि स्वरूप हम ऋतु उत्सव का आयोजन करते आ रहे हैं। इसी के तहत इस बार हम नृत्य नाटिका ‘महामानबी’ का मंचन करेंगे।

देश में पहली बार इस तरह की किसी नृत्य नाटिका का आयोजन होगा। इसके माध्यम से हम ट्रांसजेंडर समुदाय की सांस्कृतिक प्रतिभा दिखाने के साथ-साथ यह संदेश भी देना चाहते हैं कि हमें किसी की सहानुभूति की जरूरत नहीं है और समाज के हरेक क्षेत्र में समान अधिकार दिया जाना चाहिए।’

नृत्य नाटिका की निर्देशक मेघ सायंती घोष ही हैं जबकि पटकथा भाशवती दत्ता ने लिखी है। कलाकार फिलहाल पूरे उत्साह से फाइनल रिहर्सल में जुटे हुए हैं। नृत्य नाटिका के बाद 11 ट्रांसमेन और ट्रांसवूमेन को ‘पड़ा-प्रकृति सम्मान’ से नवाजा जाएगा। 

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस