-प्लास्टिक व थर्मोकोल भी प्रतिबंधित

-तैयारियों को लेकर नगर निगम ने की प्रशासनिक बैठक -विभिन्न पूजा कमेटियों को लेकर अलग से की गई बैठक

-साउंड सिस्टम के उपयोग के लिए पुलिस से लेनी होगी पूर्व अनुमति 40

फीट से अधिक नहीं होगी पूजा पंडालों की ऊंचाई

20

फीट से अधिक नहीं होगी मूर्ति की ऊंचाई जागरण संवाददाता, सिलीगुड़ी : दुर्गा पूजा उत्सव में इस बार कानफाड़ू डीजे नहीं बजाया जा सकेगा। यहां तक कि, विसर्जन के दौरान भी डीजे का उपयोग प्रतिबंधित रहेगा। वहीं, यदि कोई पूजा पंडाल में साउंड सिस्टम का उपयोग करता है तो वह भी एक निश्चित ध्वनि सीमा तक ही कर सकता है। उसके लिए भी पुलिस से पूर्व अनुमति लेनी होगी। मगर, शिक्षण संस्थानों एवं अस्पताल के आसपास साउंड सिस्टम का उपयोग किसी भी कीमत पर नहीं किया जा सकेगा। कहीं भी रात 10 बजे के बाद साउंड सिस्टम का उपयोग वर्जित रहेगा। प्रशासन द्वारा यह रोक लगाई गई है।

सिलीगुड़ी के मेयर गौतम देव ने संवाददाताओं को यह जानकारी दी है। वह शुक्रवार दोपहर यहां रामकिंकर हॉल में प्रशासन व पुलिस के अधिकारियों एवं दुर्गा पूजा आयोजक कमेटियों के प्रतिनिधियों संग दुर्गा पूजा आयोजन की तैयारियों को लेकर बैठक के बाद संवाददाताओं को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि, सरकारी दिशानिर्देशों के तहत दुर्गा पूजा के लिए बने पंडालों में अग्नि सुरक्षा के पहलुओं का भी ध्यान रखना होगा। पंडाल बनाने में नाइलॉन की डोरी का उपयोग नहीं किया जा सकता है। नारियल की रस्सी के उपयोग की अनुमति है। इसके साथ ही किसी भी रूप में प्लास्टिक व थर्मोकोल का उपयोग पूरी तरह निषिद्ध होगा। पूजा पंडालों की ऊंचाई 40 फीट से अधिक और मूर्ति की ऊंचाई 20 फीट से अधिक नहीं की जा सकती है।

उन्होंने यह भी कहा कि, गत दो वर्ष कोरोना महामारी के चलते भव्य रूप में दुर्गोत्सव नहीं मनाया जा सका। मगर, इस वर्ष परिस्थिति बेहतर हुई है तो अपने स्वाभाविक रूप में यह उत्सव मनेगा। इस दौरान सुरक्षा व्यवस्था व अन्य समस्त आवश्यक व्यवस्था के लिए प्रशासन व पुलिस तैयार है। इस दिशा में हरेक का सक्रिय सहयोग अपेक्षित है। उन्होंने सभी से पूरी शांति व सद्भाव के साथ दुर्गोत्सव मनाने की अपील की है।

इस दिन बैठक में सिलीगुड़ी डिप्टी मेयर रंजन सरकार, सिलीगुड़ी एसडीओ प्रियंका सिंह, सिलीगुड़ी गर निगम के आयुक्त सोनम वांग्दी भुटिया, सिलीगुड़ी मेट्रोपोलिटन पुलिस के डिप्टी कमिश्नर (मुख्यालय) जय टुडू, अग्निशमन विभाग के सिलीगुड़ी केंद्र के ओसी भास्कर नाग व अन्य कई सम्मिलित रहे। इसी समान मामले को लेकर शहर के कई क्लबों, संगठनों आदि को लेकर अलग से भी दीनबंधु मंच में एक सभा की गई और दुर्गा पूजा आयोजन के विविध पहलुओं को लेकर चर्चा की गई।

Edited By: Jagran