हावड़ा, जेएनएन। बगैर चिकित्सा के प्रसूता और गर्भस्थ शिशु (जच्चा-बच्चा) की मौत से नाराज परिजनों नें अस्पताल में जमकर हंगामा मचाया। मंगलवार की रात को हावड़ा जिला अस्पताल में उक्त घटना घटी है।

मिली जानकारी के अनुसार हावड़ा के शरत चटर्जी रोड की निवासी आरती सिंह को प्रसव पीड़ा होने पर सोमवार की रात को परिजनों ने अस्पताल में भर्ती कराया। आरोप है कि पीड़ा तेज होने पर भी उस रात प्रसूता की चिकित्सा नहीं की गई। इस दौरान मंगलवार की दोपहर गर्भस्थ बच्चे की मौत हो गई। इसके बाद प्रसूता की तबीयत तेजी से बिगड़ने लगी।

प्रसूता की शारीरिक स्थिति को देखते हुए चिकित्सकों ने उसे वेंटिलेशन वार्ड में शिफ्ट कर दिया। हालांकि यहां मंगलवार की रात को प्रसूता की भी मौत हो गई। इसकी सूचना मिलते ही प्रसूता के परिजन और परिचितों ने अस्पताल में पहुंच वहां हंगामा करना शुरू कर दिए।

नाराज परिजनों का कहना है कि चिकित्सकीय लापरवाही के कारण उक्त घटना घटी है। इधर अस्पताल में हिंसा की सूचना पाकर मौके पर हावड़ा थाने की पुलिस पहुंची। पुलिस के हस्तक्षेप के बाद स्थिति नियंत्रित हुई।

बता दें कि बीते सप्ताह इसी अस्पताल में एक ही दिन में दो बच्चों की मौत की घटना के बाद अस्पताल परिसर में उनके परिजनों ने हंगामा मचाया था। अस्पताल के चिकित्सकों पर लापरवाही का आरोप लगा था। 

Posted By: Preeti jha