दुर्गापुर, जागरण संवाददाता। दुर्गापुर के धंदाबाग इलाके में सोमवार की सुबह 42 वर्षीय विधवा महिला का शव उसके घर से बरामद हुआ, शव लगभग नग्न हालत में था, जिसे देखकर अनुमान किया जा रहा है यह दुराचार के बाद हत्या का मामला हो सकता है।

पुलिस ने लोगों की मांग के अनुसार स्निफर डॉग बुलाकर जांच की। हालांकि शव के पोस्टमार्टम के बाद पता चल पाएगा कि घटना कैसे हुई है। पुलिस हर बिंदुओ को ध्यान में रखकर मामले की जांच कर रही है। महिला की तीन बेटियों की शादी हो चुकी है। वह अकेले ही रहती थी और लोगों के घरों में काम करती थी।

सोमवार की सुबह उसका शव घर मे मिला। सूचना मिलते ही लोगों की भीड़ उमड़ गयी। सूचना पाकर दुर्गापुर थाने की पुलिस ने जांच शुरू की।

स्थानीय लोगों ने स्निफर डॉग बुलाकर जांच की मांग की। पुलिस ने लोगों की मांग पर स्निफर डॉग को बुलाया जो एक घर के सामने जाकर रुक गया। पुलिस उसके निशानदेही पर भी जांच कर रही है। पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम के बाद मौत के कारणों का पता चल सकेगा। 

पूजा पर सुरक्षा हुई चाक चौबंद

जानकारी हो कि पश्चिम बंगाल दुर्गा पूजा पर जुटने वाली यात्रियों की अत्याधिक भीड़ को देखते हुए पूर्व रेलवे के सियालदह डिवीजन में सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था की गई है। सियालदह समेत राणाघाट, बैरकपुर जैसे व्यस्त स्टेशनों में आरपीएफ को सतर्क रखने के निर्देश दिए गए हैं। सीसीटीवी कैमरों से भी स्टेशन परिसर में होने वाली हरेक गतिविधियों पर नजर रखी जा रही है। मध्यरात्रि में चलने वाली पूजा स्पेशल ट्रेनों में आरपीएफ एस्कार्ट को लगाया गया है। छेड़छाड़ की घटनाएं रोकने के लिए सादी वर्दी में सुरक्षा कर्मी तैनात किए गए हैं।

सूत्रों के अनुसार कोलकाता में पूजा पंडाल व दुर्गा प्रतिमाओं को देखने के लिए मुर्शिदाबाद, नदिया और उत्तर 24 परगना से आने वाले लोगों की भीड़ को देखते हुए आरपीएफ ने भी सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त कर दिए हैं। राणाघाट पोस्ट कमांडर असीम दास के नेतृत्व में आरपीएफ जवानों ने शांतिपुर, गेदे समेत अन्य स्टेशनों में पहुंचकर चेकिंग की। साथ ही यात्रियों को भी किसी अनजान से दोस्ती नहीं करने एवं संदिग्ध वस्तु को नहीं छूने की अपील की।

महिलाओं को आपात स्थिति में सुरक्षा हेल्पलाइन 182 पर मदद लेने के लिए जागरूक किया गया। प्लेटफार्म पर सादी वर्दी में जवानों की तैनाती की गई। एक-एक सब इंस्पेक्टर के नेतृत्व में जवानों की 12-12 घंटे की ड्यूटी लगाई गई। बैरकपुर में भी यात्रियों की भीड़ को देखते हुए सुरक्षा को चाक चौबंद कर दिया गया। पोस्ट कमांडर जयंत मुखर्जी के नेतृत्व में सुरक्षा कर्मियों ने स्टेशन परिसर में चेकिंग की।

ट्रेन पकड़ने के लिए यात्रियों से जल्दबाजी नहीं करने की अपील की गई। सियालदह, बालीगंज में भी यात्रियों की भीड़ को देखते हुए अतिरिक्त जवानों की तैनाती की गई। सीसीटीवी कंट्रोल रूम से स्टेशन परिसर व प्लेटफार्म पर होने वाली हर गतिविधियों पर नजर रखी जा रही है।

आपात स्थिति से निपटने के लिए मेडिकल टीम, एंबुलेंस के साथ ही लोकल पुलिस की तैनाती की गई है। मध्यरात्रि चलने वाली पूजा स्पेशल ट्रेनों में महिला सुरक्षा को प्राथमिकता पर रखा गया है। महिला कोचों में आरपीएफ एस्कार्ट को लगाया गया है। चोरी व छिनताई जैसे वारदातों को रोकने के लिए सीआइबी को भी लगाया गया है। उधर, हावड़ा डिवीजन के बंडेल, सेवड़ाफुली, ब‌र्द्धमान समेत अत्याधिक यात्रियों के आवागमन वाले स्टेशनों में राउंड ओ क्लाक आरपीएफ जवानों की ड्यूटी लगाई गई है।

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप