सिलीगुड़ी, [जागरण संवाददाता]। सिलीगुड़ी नगर निगम के साथ राज्य सरकार द्वारा की जा रही मनमानी को लेकर अब पूरे राज्य में माकपा मुददा बनाकर आंदोलन करेगी। परिवर्तन की सरकार चाहे जितना दावा कर ले, परंतु उत्तर बंगाल और हिल्स में कोई उद्योग अभी तक स्थापित नहीं हो सका है।

हिल्स की समस्या का स्थायी समाधान निकालने के लिए सरकार त्रिपक्षीय वार्ता प्रारंभ करें। हिल्स में स्वायत्त शासन को मजबूती प्रदान करें। यह कहना है माकपा के वरिष्ठ नेता सह विधायक अशोक नारायण भट्टाचार्य और माकपा के जिला सचिव जीवेश सरकार का। वे मंगलवार को जिला सम्मेलन की सफलता के बाद अनिल विश्वास भवन में पत्रकारों से बात कर रहे थे।

नेता द्वय ने बताया कि ममता बनर्जी जब से सत्ता में आइ हैं तब से अनेकों बार उद्योग लगाने के उद्योगपतियों को बुलाती है। आह्वान भी होता है परंतु आजतक उत्तर बंगाल कोई उद्योग नहीं लग सका। चाय बागान बंद हो रहे है। इसको लेकर चाय श्रमिकों के द्वारा आंदोलन किया जाता है उसे भी दबाने की कोशिश की जाती है। जीवेश सरकार ने बताया कि राज्य सरकार के द्वारा नगर निगम और महकमा परिषद को जो राशि दी जाती है उसे भी सरकार सिर्फ इसलिए नहीं दे रही है क्योंकि इसपर माकपा का कब्जा है।

आश्चर्य की बात है कि जिन सांसदों ने राशि नगर निगम को दी उसे भी सरकार के इशारे पर प्रशासन द्वारा निर्गत नहीं किया जा रहा है। इसको लेकर कई बार मेयर ने मंत्री को पत्र भी लिखा। नगर निगम क्षेत्र में होने वाले कार्यक्रमों में मेयर को निमंत्रित नहीं किया जा रहा है। हिल्स की समस्या को लेकर किसी प्रकार की कोई राजनीति नहीं होनी चाहिए नहीं तो आने वाले दिनों में यह फिर से सुलग जाएगा।

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप