जागरण संवाददाता, सिलीगुड़ी : कोरोना वायरस के नए मामले लगातार बढ़ रहे हैं। इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि पिछले महीने मार्च के पहले सप्ताह की अपेक्षा अप्रैल के पहले सप्ताह में सबसे ज्यादा यानी पांच गुना ज्यादा मामले सामने आए हैं।

स्वास्थ्य विभाग द्वारा मिले आंकड़ों के मुताबिक मार्च के पहले सप्ताह में सिलीगुड़ी नगर निगम क्षेत्र अंतर्गत 21 मामले सामने आए थे। जबकि अप्रैल महीने के पहले सप्ताह में यह आंकड़ा बढ़कर सौ तक पहुंच गया है। बताया गया कि अप्रैल के पहले सप्ताह में आए सर्वाधिक मामले सिर्फ मार्च ही नहीं बल्कि इस वर्ष जनवरी से लेकर मार्च तक की तुलना में इस महीने एक सप्ताह में सबसे ज्यादा मामले हैं। मामले किस तरह से बढ़ रहे हैं, इसका अनुमान इसी से लगाया जा सकता है कि जनवरी के प्रथम सप्ताह में कोरोना के 68 मामले सामने आए थे,जबकि फरवरी में घटकर 32 तक पहुंच गया था। वहीं पिछले महीने मार्च के पहले सप्ताह में कोरोना के 21 मामले सामने आए थे।

दूसरी ओर मौत के मामलों पर नजर डालने पर मालूम चलता कि जनवरी के प्रथम सप्ताह में कोरोना संक्रमित दो मरीजों की मौत हुई थी। जबकि फरवरी में किसी भी कोरोना संक्रमित मरीज की मौत नहीं हुई थी। मार्च के प्रथम सप्ताह में कोरोना संक्रमित दो मरीजों की मौत होने का मामला सामने आया था। वहीं अप्रैल के प्रथम सप्ताह में पांच मरीजों की मौत हो चुकी है। कहां-कहां लग रही है वैक्सीन

देश के विभिन्न भागों की तरह सिलीगुड़ी नगर निगम क्षेत्र समेत पूरे दार्जिलिंग जिले में एक अप्रैल से 45 से अधिक उम्र के लोगों को कोरोना के टीके दिए जा रहे हैं। सिलीगुड़ी नगर निगम क्षेत्र अंतर्गत 10 अर्बन प्राथमिकी स्वास्थ्य केंद्र, नगर निगम अस्पताल मातृसदन व सिलीगुड़ी जिला अस्पताल में कोरोना के टीके मुफ्त में दिए जा रहे हैं। इसके अलावा उत्तर बंगाल मेडिकल कॉलेज व अस्पताल, सिलीगुड़ी महकमा के माटीगाड़ा, नक्सलबाड़ी, खोरीबाड़ी, और फांसीदेवा ग्रामीण अस्पताल में कोरोना के वैक्सीन मुफ्त में दिए जा रहे हैं।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021