-खेतों में फल तैयार पर कोई खरीददार नहीं

-विधान नगर मंडी में भी आवाजाही बंद

-सभी उत्पादकों की रातों की नींद हराम

जागरण संवाददाता,खोरीबाड़ी: कोरोना वायरस के कहर ने सिलीगुड़ी के निकट खोरीबाड़ी तथा विधान नगर इलाके के अनानास किसानों की कमर तोड़ दी है। खेतों में अनानास तैयार है लेकिन खरीददार कोई नहीं है। इसके चलते इन दिनों खोड़ीबाड़ी प्रखंड के किसान काफी परेशान हैं। कुछ दिन और यही स्थिति रही तो सारे तैयार फल खेतों में ही बर्बाद हो जाऐंगे। खोरीबाड़ी प्रखंड के डांगुजोत, बैरागीजोत, आरीभिट्ठा आदि गावों में अनानास की खेती करने वाले किसान मनोज महतो,शभु साह, रंजीत साह, रतन घोष आदि किसानों ने बताया कि हमारे खेतों में अनानास फल बिल्कुल तैयार है। लेकिन कोरोना के कारण कोई खरीददार नहीं मिल रहा है। विधान नगर मंडी में आवाजाही भी बन्द हो गई है। खरीददार कुछ दिन रुकने की बात कर अपना पल्ला झाड़ रहे हैं। जिससे हम किसानों की रातों की नींद हराम हो गई है। खरीददार नहीं मिलने के कारण खेतों की ओर जाने की इच्छा ही नहीं होती है। यदि यही स्थिति कुछ दिन और रही तो हमारे सामने आत्महत्या ही एक रास्ता बच जाएगा। उन्होंने अनानास की खेती पर चर्चा करते हुए बताया कि एक एकड़ में 15 हजार पौधे की रोपाई की जाती है और फल को तैयार करने में प्रति पौधे पर 12 से 14 रुपया खर्च आता है । कृषक मनोज महतो बताते है कि मेरे चार एकड़ खेत में लगे अनानास बिल्कुल तैयार है। जो अब ज्यादा तैयार होने के कारण फट भी रहा है। क्या करें कुछ समझ नही आ रहा है। बैंक से कर्ज ले कर खेती की थी,अब क्या होगा भगवान ही मालिक है। वहीं इस संबंध में कृषक रतन घोष बताते हैं कि मेरे भी एक एकड़ जमीन पर अनानस फल तैयार है। इसको बेचें कहां कुछ समझ में नहीं आ रहा है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस