नागराकाटा, संवाद सूत्र।  अब जल्द ही पर्यटक व आम जनता रेल से डुवार्स से पहाड़ जा सकते हैं। दार्जिलिंग की तर्ज पर कालिम्पोंग के नक्साल बस्ती तक रेल लाइन का निर्माण कराया जा रहा है। करीब 22 किलोमीटर तक रेलमार्ग का काम काफी तेज गति से चल रहा है।

वर्तमान समय में किलकोट चाय बागान तक का निर्माण कार्य पूरा कर लिया गया है। डुवार्स व आसपास सटे चाय बागानों को पर्यटन क्षेत्र माना जाता है। अगर रेलमार्ग का निर्माण कार्य पूरा हो जाता है तो डुवार्स व पहाड़ के पर्यटन व्यवसाय को भी काफी लाभ होगा।

चालसा व्यवसायी कल्याण समिति के सदस्य अमिताभ बोस ने कहा कि रेल लाइन बनने से चालसा में व्यवसायिक उन्नति होगा। देश-विदेश से काफी पर्यटक चालसा में भी घूमने आएंगे। रिसार्ट मालिक संगठन गोरूमारा टूरिज्म एसोसिएशन के अध्यक्ष सोना सरकार ने कहा कि वर्ष 2011 में ममता बनर्जी के रेलमंत्री के समय में उक्त रेलमार्ग निर्माण करने की घोषणा की गई थी।

इससे समस्त डुवार्स के अलावा कालिम्पोंग के झालंग, बिन्दू समेत आसपास के कई क्षेत्रों को पर्यटन व्यवसाय को लाभ होगा। डुवार्स के प्राकृतिक सौंदर्य को देखकर देश-विदेश के पर्यटक काफी खुश होंगे। रेलमार्ग के निर्माण होने से दूर-दराज से चालसा व मालबाजार आने वाले लोगों को भी सुविधा होगी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस