बड़ी सफलता

-सीआईआई के विजनेस कनक्लेव में कई प्रस्तावों पर चर्चा

-वित्त मंत्री ने निवेशकों को सभी सहयोग का दिया भरोसा

-कई देशों के प्रतिनिधि वर्चुअली हुए शामिल

जागरण संवाददाता, सिलीगुड़ी : अगले एक वर्ष में पूरे उत्तर बंगाल में तीन हजार करोड़ रुपए का निवेश होगा। एमएसएमई, टूरिज्म व उद्योग को मिलाकर तीन हजार करोड़ रुपए निवेश की घोषणा राज्य के वित्त मंत्री अमित मित्रा ने की। गुरुवार को आठवां उत्तर बंगाल बिजनेस कॉनक्लेव के उद्घाटन समारोह में उन्होंने यह घोषणा की।

गुरुवार से दो दिवसीय उत्तर बंगाल विजनेस कॉनक्लेव का आगाज सिलीगुड़ी शहर के हिलकार्ट रोड स्थित हुआ। कॉन्फेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्रीज सीआईआई, नॉर्थ बंगाल और राज्य सरकार के डब्ल्यूबीआईडीसी के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित आठवें कॉन्क्लेव का उद्घाटन राज्य के वित्त मंत्री अमित मित्रा ने वर्चुअली किया। मित्रा ने राज्य सरकार की ओर से निवेशकों को सभी सहयोग देने का वादा किया। कॉन्क्लेव में पड़ोसी देश भूटान, नेपाल और बांग्लादेश के प्रतिनिधि भी वर्चुअली उपस्थित हुए थे। अपने संबोधन में वित्त मंत्री अमित मित्रा ने कहा कि वित्तीय वर्ष 2021-22 में उत्तर बंगाल में तीन हजार करोड़ रुपए निवेश की योजना है। उत्तर बंगाल के पांच से छह जिलों में इंडस्ट्रियल पार्क बनाने का रोड मैप तैयार है। इसके अलावा सिलीगुड़ी से सटे इलाकों समेत उत्तर बंगाल के विभिन्न हिस्सों में फूड प्रोसेसिंग यूनिट के अलावा एमएसएमई और टूरिज्म सेक्टर में भारी निवेश की योजना है।

यहां बताते चलें कि वर्ष 2021-22 में निवेश की संभावित रकम बीते वर्ष 2019-20 से लगभग दोगुनी है। पिछले वर्ष 2019 में आयोजित सातवें उत्तर बंगाल बिजनेस कॉन्क्लेव में कुल 1635 करोड़ रुपए निवेश की घोषणा की गई थी। लेकिन आज के आठवें कॉनक्लेव में निवेश, वैधानिक अनुपालन और व्यापारिक क्षेत्र में बढोत्तरी को लेकर जारी विचार-विमर्श में बीते वर्ष घोषणा का 70 प्रतिशत कार्य लगभग पूरा होने की घोषणा मंत्री अमित मित्रा ने किया है। इस मौके पर मंच पर डब्ल्यूबीआईआईडीसी के चेयरमैन राजीव सिन्हा,सीआईआई उत्तर बंगाल चेप्टर के चेयरमैन संजीत साहा,वाइस चेयरमैन संजय टिबरेवाल,एमएसएमई के निदेशक अनुराग श्रीवास्तव आदि उपस्थित थे।

Edited By: Jagran