जागरण संवाददाता, सिलीगुड़ी : 2021 में बंगाल की अयोग्य और सभी मोर्चे पर फेल रही टीएमसी सरकार को जनता सत्ता से उतार फेकेंगी।  देश की सेना को दुर्गम ओर कठिन स्थानों के लिए इस्तेमाल किया जाता है वही बंगाल सरकार की गलतियों से कोलकोता महानगर में 350 सेना के जवानों को पेड़ काटने पर मजबूर होना पड़ रहा है। लोग बिजली पानी के लिए तरस रहे है।  यह कहना है भाजपा नेता व दार्जिलिंग के सांसद राजू बिष्ट का। वे लॉक डाउन के बीच गुरुवार को पहली बार विमान सेवा शुरू होने पर अपने संसदीय क्षेत्र पहुँचे है। 

बागडोगरा एयरपोर्ट पर पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि  मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पिछले दो दिनों में जिस प्रकार प्रधानमंत्री और गृहमंत्री को ट्वीट किया है उससे स्पष्ट है कि वह सत्ता संभालने में स्वंय को असफल पा रही है। यही कारण है वह बार बार केंद्र को सत्ता संभालने की  आग्रह कर रही है। ममता दीदी को पता होना चाहिए कि भारतीय जनता पार्टी जनता द्वारा चुनी सरकार को अपदस्थ नही करती है। जनता कहेगी वह ना सत्ता ही संभालेगा बल्कि राज्य में सुशासन का साम्रज्य कायम करेगी। कोरोना महामारी के दौरान  लॉक डाउन हो  या चक्रवाती तूफान। इसके लिए सरकार की ओर से कोई भी तैयारी मुक्कम्बल नही की गई।

केंद्र सरकार के गाइडलाइन का भी पालन नही किया गया। यहां लॉक डाउन में भी लोग कोरोना को मजाक में लेते रहे । यह किसी से छुपा नहीं है आपको तो लापता बताकर पोस्टर लगाए गए थे? इसके बारे में क्या कहेंगे? राजू बिष्ट  ने कहा कि  यह टीएमसी की ओझी राजनीति है। मैं भी सांसद होने के साथ देश का जिम्मेदार नागरिक हूँ। यहां लॉक डाउन नियमों का पालन करते हुए नही आया। लेकिन दिल्ली रहते हुए दिन रात अपने संसदीय क्षेत्र के लोगों के लिए सभी प्रकार का कार्य किया हूँ। इस राज्य में चुने हुए जनप्रतिनिधियों को काम नही करने दिया जाता नही तो तीन सांसदों को पुलिस से क्यों गृहबन्दी किया गया।

बिष्ट ने आरोप लगाते हुए कहा कि हिल्स हो या समतल यहां चुने हुए जनप्रतिनिधि नही ममता दीदी के द्वारा मनोनीत प्रतिनिधि से सरकार चलती है। वे नियमों का पालन करते हुए सिलीगुड़ी दार्जिलिंग कलिंगपोंग का दौरा करेंगे। इस संबंध में जिलाधिकारी से भी बात करेंगे, आगे तो सरकार और उनका प्रशासन जाने।

Posted By: Vijay Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस