जागरण संवाददाता,सिलीगुड़ी : अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की ओर से सिलीगुड़ी कंचनजंघा स्टेडियम हॉल में बांग्लाभाषा दिवस मनाया गया। इस मौके पर जलपाईगुड़ी के सांसद डाक्टर जयंत राय ,डाक्टर एन आर हालदार, सिलीगुड़ी विभाग प्रमुख त्रिदिप्त साहा आदि मौजूद थे। इस मौके पर वक्ताओं ने कहा कि बांग्लाभाषा दिवस बंगाल के प्रत्येक नागरिक के लिए क्यों जरूरी है। कहा कि उत्तर दिनाजपुर के इस्लामपुर बांग्ला माध्यम के विद्यालय दाड़ीभीट में शिक्षक की मांग थी। यहां हाईस्कूल में उर्दू शिक्षक की नियुक्ति के विरोध में छात्रों द्वारा किए जा आंदोलन पर पुलिस ने गोली चलाई थी। इस दौरान पुलिस की गोली से राजेश सरकार व तापस बर्मन की मौत हो गई थी। उस घटना का एबीवीपी द्वारा तीव्र विरोध किया गया था। मृतक छात्रों के परिजनों ने इस मामले में न्याय पाने के लिए सीबीआइ जांच की मांग की थी। जबकि राज्य सरकार अपने स्तर से जांच करने की बात कहती रही। गोलीकांड के एक साल बाद भी राज्य सरकार जांच कर ही रही है। उन्होंने कहा कि छात्रों पर गोली चलाने के पीछे पुलिस की मंशा क्या थी यह सीबीआई जांच से ही सामने आ सकता है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद सीबीआइ जांच की मांग पर कायम है। बंगाल में विद्यार्थी परिषद की ताकत बढ़ते देख अब सरकार और उसके मंत्री इसका विरोध करने लगे हैं। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की आलोचना करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बांग्ला भाषा की बात करती हैं लेकिन बांग्ला भाषा के आंदोलन के लिए दो छात्रों की मौत पर आज भी सरकार चुप है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप