कोलकाता, जागरण संवाददाता। इंग्लैड के सभी चर्चो के प्रमुख केंटबरी के आर्कबिशप जस्टिन बेल्बी ने कोलकाता में स्पष्ट कर दिया कि जलियांवाला बाग की उस भयानक घटना पर उन्हें जो भी बोलना होगा, वह अमृतसर दौरे के दौरान ही बोलेंगे। वह अगले हफ्ते अमृतसर पहुंच रहे हैं। मौके पर उन्होंने जोर देते हुए कहा कि इस मुद्दे पर कोई कयास न लगाए जाएं। अपने 10 दिवसीय भारत दौरे के दौरान रविवार को कोलकाता पहुंचे वेल्बी मंगलवार को अमृतसर पहुंच रहे हैं।

कोलकाता के बिशप हाउस में उन्होंने कहा कि इस घटना की बरसी पर उन्होंने कुछ नहीं कहा था, लेकिन मंगलवार को जब वह पंजाब में होंगे जरूर बोलेंगे। हालांकि यह जरूरी है उस बारे में कोई कयास न लगाए जाएं।

गौरतलब है कि अप्रैल महीन में जलियांवाला बाग घटना की 100वीं बरसी पर वेल्बी ने एक ट्वीट करते हुए कहा था कि एक ब्रिटिश नागरिक के रूप में हम अपने शर्मनाक इतिहास से मुंह नहीं छिपा सकते।

वेल्बी ने कहा एक धार्मिक नेता के तौर पर उनके पास ब्रिटेन या उसकी सरकार की तरफ से कुछ भी कहने का राजनीतिक अधिकार उनके पास नहीं है। बातचीत में उन्होंने कहा कि मैं ब्रिटिश सरकार या ब्रिटेन की तरफ से कुछ नहीं कह सकता। मैं जो कुछ भी कहूंगा, एक धार्मिक नेता के तौर पर कहूंगा।

गौरतलब है कि जलियांवाला बाग नरसंहार में 13 अप्रैल 1919 को बैशाखी के त्यौहार के दिन घटी थी। उस दिन तत्कालीन भारतीय ब्रिटिश सेना के कर्नल डायर के आदेश पर हजारों निहत्थे भारतीयों पर गोली चलाई थी, जिसमें सैकड़ों आजादी के समर्थकों की मौत हो गई थी।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस