दार्जिलिंग, संवाद सूत्र। जिलाधिकारी ने जीटीए (गोरखा टेरीटरी एसाेसिएशन) चुनाव के संबंध में 24 मई को सर्वदलीय बैठक जिलाधिकारी कार्यालय में बुलाई है। उक्त बैठक के संबंध में 18 राजनीतिक दलों को सूचित किया गया है। जिसकी प्रतिलिपि राज्य के होम एंड हिल अफेयर्स विभाग और कालिंपोंग के जिलाधिकारी और दार्जिलिंग और कालिंपोंग के पुलिस अधीक्षक के साथ ही संबंधित अन्य को भेजी गयी है। जीटीए चुनाव के लिए सर्वदलीय बैठक निश्चित होने के बाद अब शीघ्र ही जीटीए चुनाव होने की संभावना बढ़ गयी है। गोरामुमो, क्रामाकपा ,भाजपा के साथ ही अन्य कई दल जीटीए चुनाव का घोर विरोध करने के बावजूद राज्य सरकार युद्ध स्तर पर इसकी तैयारी कर रही है।

जीटीए चुनाव के लिए राज्य ने चुनाव अधिकारी, रिटर्निंग ऑफिसर मनोनीत कर चुकी है। राजनीतिक दलों में गोरखा जनमुक्ति मोर्चा इस चुनाव को रोकने के लिए सांंकेतिक भूख हड़ताल कर रही है। रविवार को भूख हड़ताल का छठा दिन है। पार्टी अध्यक्ष विमल गुरुंग ने स्पष्ट रूप में कहा है कि गोरखा जनमुक्ति मोर्चा जीटीए चुनाव में नहीं जाएगी। भारतीय जनता पार्टी और उसके घटक दल गोरखा राष्ट्रीय मुक्ति मोर्चा और क्रांतिकारी कम्युनिस्ट पार्टी जीटीए चुनाव के पक्ष में नहीं है। गोरखा राष्ट्रीय मुक्ति मोर्चा कानूनी सहायता ले रही है । हाम्रो पार्टी के अध्यक्ष ने कहा कि जीटीए से हमें कुछ लेना देना नहीं है परंतु यदि जीटीए का चुनाव होता है तो जनहित में हाम्रो पार्टी जीटीए चुनाव में जरूर भाग लेगी ।