मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, सिलीगुड़ी : न्यू जलपाईगुड़ी रेलवे स्टेशन से लगभग 15 किलो मीटर दूर चटहॉट निजबाड़ी स्टेशन के बीच 22 मार्च को अप-चंडीगढ़-डिब्रूगढ़ एक्सप्रेस के दो इंजनों में आग लगने कि मामले में जाच की गई है।

जाच रिपोर्ट जमा होने के बाद दुर्घटना की वजहों का मालूम चल सकेगा। इस मामले में जो जिम्मेदार होगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

यह बातें एनएफ रेलवे के जीएम संजीव राय ने कही। उन्होंने गुरुवार को कटिहार डिवीजन के विभिन्न स्टेशनों का जायजा लेने के बाद एनजेपी स्थित डीआरएम ऑफिस में संवाददाताओं से बातें कर रहे थे। उन्होंने कहा कि ट्रेनों की दुर्घटनाओं को रोकने यात्रियों की सुरक्षा को लेकर रेलवे द्वारा अनेक सुरक्षात्मक कदम उठाए जा रहे हैं। इस घटना में दो लोगों की मौत हो गई थी, जब वे घबराहट में चलती ट्रेन से बाहर कूद गए। भविष्य में ऐसी घटना से बचने के लिए आवश्यक कदम उठाए गए हैं।

उन्होंने कहा कि दो यात्रियों की दुर्भाग्यवश मृत्यु हो गई थी, क्योंकि वे चलती ट्रेन से घबराहट में कूद गए थे। उन्होंने कहा कि इस दुर्घटना की जाच कमिश्नर ऑफ रेलवे सेफ्टी नॉर्थ ईस्ट फ्रंटियर सर्कल, कोलकाता, आरके शर्मा ने की थी। इस बीच, हमने इस तरह की घटना से बचने के लिए सिस्टम को आगे बढ़ाया है। इस घटना का कारण, विस्तृत जाच के बाद ही व्यक्तियों की जिम्मेदारियों का पता चलेगा। उन्होंने कहा कि सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए अधिकारियों द्वारा विभिन्न स्तरों पर लोको शेड, नियमित निरीक्षण में भी फिटनेस जाच की जा रही है। लोको पायलट भी हालत की जाच करने के लिए जाच कर रहे हैं। हम दिन-प्रतिदिन की निगरानी भी कर रहे हैं। जल्द ही सीआरएस प्रारंभिक और अंतिम रिपोर्ट देंगे। प्रारंभिक रिपोटरें में सिफारिशों के साथ किए जाने वाले कायरें के बारे में तत्काल अमल किया जाएगा। हमने सुधारात्मक और निवारक दोनों कार्रवाई की है। घटना के लिए जिम्मेदार पाया जाएगा, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप