सिलीगुड़ी, जागरण संवाददाता। लॉकडाउन की रात बालू से लदे एक डम्पर ने बाइक सवार एक युवक को रौंद दिया। बीते बुधवार देर रात यह सड़क हादसा सिलीगुड़ी से सटे फांसीदेवा थाना क्षेत्र में हुआ। इस हादसे में मौके पर ही युवक की मौत हो गई। हादसे से गुस्साए लोगों ने एक-एक कर चार बालू से लदे ट्रकों को आग लगा दी। घटना से इलाके में उत्तेजना का माहौल है। 

 मिली जानकारी के अनुसार बुधवार की देर रात फांसीदेवा थाना क्षेत्र के घोषपुकुर इलाके में एक बालू लदी एक डम्पर ने बाइक सवार एक युवक को रौंद दिया। पुलिस ने मृत युवक की पहचान प्रेमजीत सिंह (38) के रूप में की है। बुधवार को पूरे राज्य में लॉकडाउन था। लॉकडाउन की रात इस तरह की दर्दनाक सड़क हादसे से इलाकाई लोग भड़क उठे। घटना के बाद उस सड़क से गुजरने वाले एक के बाद एक बालू से लदे 4 ट्रकों में आग लगा दी। जिसमें से तीन ट्रक जल कर राख में तब्दील हो गई। 

 घटना की जानकारी मिलते ही दार्जिलिंग जिला पुलिस के डीएसपी (ग्रामीण) अचिंत्य गुप्ता, फांसीदेवा थाना प्रभारी सुजीत लामा अपनी पलटन के साथ मौके पर पहुंचे और मोर्चा संभाला। माटीगाड़ा फायर स्टेशन से एक और नक्सलबाड़ी फायर स्टेशन से एक दमकल इंजिन मौके पर पहुंच कर ट्रकों में लगी आग को बुझाने का प्रयास शुरु किया। ग्रामीणों के गुस्से को देखकर ट्रक चालक व खलासी फरार हो गए। 

पुलिस ने मृतक के क्षतिग्रस्त शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए उत्तर बंगाल मेडिकल कॉलेज व अस्पताल भेज दिया। इधर इलाके के लोगों का कहना है कि कोरोना के इस आतंकित काल मे भी बालू माफिया सक्रिय है।  फांसीदेवा के चेंगा और मांझा नदी में अवैध खनन कर बालू निकाला जा रहा है। हर रात को नदी से बालू से लदे सैंकड़ों ट्रक निकलते  है। बालू से लदे ये ट्रक मौत का तांडव करते हुए दौड़ते हैं। जिससे यहां आये दिन सड़क हादसे होते है। कई बार पुलिस प्रशासन को इसकी जानकारी देने के बाद भी मौत का सिलसिला रुक नहीं रह है। जिला पुलिस के डीएसपी (ग्रामीण) अचिंत्य गुप्ता ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। मामले की जांच की जा रही है।

   

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस