राज्य ब्यूरो, कोलकाता : पूर्व मेदिनीपुर के कांथी में बुधवार को भाजपा कार्यकर्ता की लाश नदी किनारे फंदे से लटकती मिली। पार्टी तथा मृतक के परिजनों ने हत्या कर शव को फंदे पर लटकाने का आरोप लगाया है। भाजपा ने स्थानीय तृणमूल कांग्रेस को मौत के लिए जिम्मेदार ठहराया है। पुलिस ने घटना की जांच शुरू कर दी है। उधर, भाजपा कार्यकर्ता की संदिग्ध अवस्था में मौत की घटना ने एक बार फिर राजनीति को गर्मा दिया है। 

सूत्रों के अनुसार हल्दिया का बूथ अध्यक्ष पूर्णचंद्र दास (44) बुधवार सुबह से ही लापता था। लेकिन काफी देर तक घर नहीं लौटने पर परिजनों ने उसकी तलाश शुरू कर दी। दोपहर में नदी के किनारे एक पान के बगीचे में फंदे से लटकती उसकी लाश मिली। मृतक भाजपा का सक्रिय कार्यकर्ता बताया गया है। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। बताया गया कि कुछ दिन पहले तृणमूल कार्यकर्ताओं ने उसे बुलाया था लेकिन वह नहीं गया। 

परिजनों का कहना है कि इसे लेकर परिवार के साथ स्थानीय तृणमूल नेता के साथ विवाद भी हुआ था। इसके बाद से पूर्णचंद्र मानसिक तनाव में रहने लगा था। हालांकि भाजपा कार्यकर्ता की हत्या हुई है या उसने खुदकशी की है इसे लेकर रहस्य गहरा गया है। जबकि मृतक के परिजनों ने हत्या कर शव को लटकाने का आरोप लगाया है। इस मामले में स्थानीय भाजपा नेतृत्व ने तृणमूल कांग्रेस को मौत का जिम्मेदार ठहराया है। प्राथमिक जांच में पुलिस ने हत्या नहीं बल्कि खुदकशी किए जाने की आशंका जताई है। फिलहाल मौत की वजह जानने के लिए पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। 

उधर, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने भाजपा कार्यकर्ता की मौत को राजनीतिक हत्या बताया है। उन्होंने कहा कि तृणमूल कांग्रेस भाजपा समर्थकों को रास्ते से हटाने की साजिश रच रही है। बताते चलें कि कुछ दिन पहले ही उत्तर बंगाल में भाजपा विधायक का शव फंदे से लटकता मिला था। इसे लेकर भी राजनीति गरमा गई थी।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस