-गुस्साये लोगों ने पुलिस वैन पर किया हमला, आईसी संजय घोष सहित दर्जनों घायल

-रणक्षेत्र में तबदील हुआ बालुरघाट शहर का गोपालन कालोनी

संवाद सूत्र, बालुरघाट : बालुरघाट लोकसभा की सांसद अर्पिता घोष के बॉडीगार्ड श्यामल सरकार की शराब दुकान को लेकर मंगलवार को गोपालन कॉलोनी इलाके में जमकर बवाल हुआ। जनता और पुलिस आमने-सामने हो गयी थी। पुलिस को मजबूरी में लाठी चार्ज करना पड़ा। दूसरी ओर गुस्साये लोगों ने पुलिस वैन पर ईट-पत्थरों से हमला किया। पुलिस को भी निशाना बनाया। बालुरघाट थाना के आईसी संजय घोष सहित दर्जनों पुलिस कर्मी घायल हो गए। मीडियाकर्मी भी घायल हुए। स्थिति को नियंत्रित करने के लिए अतिरिक्ति पुलिस अधीक्षक देवाशीष नंदी को घटनास्थल पर आना पड़ा। गौरतलब है कि सांसद अर्पिता घोष का सुरक्षाकर्मी श्यामल सरकार के शराब दुकान में तोड़फोड से मामला शुरू हुआ। वें पेशे से पुलिसकर्मी है। उन्होंने गोपालन कॉलोनी में नया घर बनाया है। दो माह पहले उन्होंने शराब की दुकान खोली। इसे लेकर स्थानीय लोगों ने विरोध किया। दुकान के पास एक मंदिर है। शराब दुकान खुलने के साथ ही लोग गुस्साये हुए थे। सांसद का बॉडीगार्ड होने के कारण उन्हें आसानी से लाइसेंस भी मिल गया था।

शराब दुकान के मालिक श्यामल सरकार ने बताया कि मैंने इसके लिए लाइसेंस लिया था। घटना के दौरान मैं बाहर था। दोपहर को मुझे पता चला कि मेरे घर पर हमला किया जा रहा है। मेरी पत्‍‌नी को पीटा जा रहा है। मेरा दस लाख का नुकसान हुआ है। स्थानीय लोगों ने बताया कि हम किसी भी हालत में शराब की दुकान नहीं खोलने देंगे। हमने पुलिस को लिखित रूप में कई बार शिकायत की थी।

वहीं सांसद अर्पिता घोष ने बताया कि जन बहुल इलाके में कैसे शराब का दुकान खुल गया, यह जांच का विषय है। मैंने अपने सुरक्षाकर्मी श्यामल सरकार को उनके पद से हटा दिया है।

कैप्शन : 1.लाठीचार्ज करती पुलिस

2. क्षतिग्रस्त पुलिस वैन

Posted By: Jagran