कैचवर्ड : दंगल

-दिनहाटा में 417 मतदान केंद्रों में से 153 संवेदनशील

-सभी बूथों पर तैनात रहेगी केंद्रीय वाहिनी

-प्रत्येक बूथ पर चार मतदानकर्मी रहेंगे

- भाजपा और बीएसएफ की बैठक के विरोध में चुनाव आयोग से तृणमूल ने की शिकायत

जागरण टीम, दिनहाटा/कूचबिहार: दिनहाटा विधानसभा उप चुनाव के लिए चुनाव प्रचार थम गया है। लेकिन भाजपा-तृणमूल की टक्कर खत्म नहीं हुई है। शनिवार को यानि 30 अक्टूबर को 2 लाख 80 हजार 80 मतदाता अपने मत का प्रयोग करेंगे। इस विधानसभा क्षेत्र में 417 मतदान केंद्र है, जिसमें 153 संवेदनशील केंद्र है। सभी बूथों पर केंद्रीय वाहिनी तैनात रहेंगे। दिनहाटा कॉलेज में डीसीआरसी तैयार किया गया है। केंद्रीय वाहिनी विभिन्न स्थानों पर रूट मार्च कर रहें है। चुनाव शांतिपूर्ण सम्पन्न करवाने के लिए कुल 16668 मतदानकर्मी परिसेवा देंगे। साथ ही 27 कंपनी केंद्रीय वाहिनी उतारी गयी है। वहीं 903 राज्य पुलिस भी तैनात रहेंगे। बतादें कि विधानसभा चुनाव में भाजपा के निसिथ प्रामाणिक ने उदयन गुहा को 57 वोट से हराया था। लेकिन अपने सांसद पद को बहाल रखने के लिए विधायक पद से इस्तीफा दे दिया।

वैसे बुधवार को चुनाव प्रचार थम गया था। लेकिन भाजपा व तृणमूल के बीच झगड़ा नहीं थमा है। बुधवार को राज्य अध्यक्ष डॉ. सुकांत मजूमदार व उपाध्यक्ष दिलीप घोष बीएसएफ अधिकारियों से मिले थें। इसे लेकर तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार उदयन गुहा व इलेक्शन एजेंट पार्थ प्रतिम राय ने जिलाधिकारी के कार्यालय में जाकर चुनाव आयोग से शिकायत की। पार्थ प्रतिम राय ने बताया कि बीएसएफ अधिकारियों से भाजपा का मिलना निर्वाचन विधि का एक तरह से उल्लंघन है। इस बैठक से चुनाव प्रभावित होगा। साथ ही सर्किट हाउस जाकर वाममोर्चा के उम्मीदवार अब्दुल रउफ ने इसे लेकर शिकायत की।

कैप्शन : चुनाव आयोग के पास जाते तृणमूल उम्मीदवार उदयन गुहा

Edited By: Jagran